समाज में शांति व स्थिरता बनाये रखने में भी सहयोगी है योग: डा. चैतन्य

    विवेक सृष्टि परिसर में ग्रामीण व शहरी महिला-पुरुष योग जिज्ञासुवों का लगा जमावड़ा

    Advertisement

    अयोध्या- फैजाबाद। चतुर्थ अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विवेक सृष्टि के अध्यक्ष डॉ. चैतन्य के निर्देशन में अन्तर्राष्ट्रीय सत्र पर विकसित योग पाठ्यक्रम का सामूहिक अभ्यास के रूप में भव्य समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उपस्थित योग साधकों एवं आमजनमानस के साथ गोशाईगंज विधायक एवं अयोध्या के महापौर सहित जनप्रतिनिधयों ने सामूहिक प्रार्थना, संधि सञ्चालन, आसान, प्राणायाम, ध्यान, का अभ्यास कर छटा बिखेरी। अति प्रातः विवेक सृष्टि परिसर में सुदूर ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों से महिला- पुरुष योग जिज्ञासुवों का जमावड़ा शुरू हो गया था कार्यक्रम में बड़ी संख्या में महिलाओं की भागीदारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र से आये साधकों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। इस अवसर पर डॉ चैतन्य ने पद्मविभूषण योगाचार्य वी के एस अयंगर के कथन कि “एक दिन के लिये भी अभ्यास बंद न होने दें” को रेखांकित करते हुए कहा कि योग की क्रियाओं को प्रतिदिन की निरन्तर साधना के बाद ही फलीभूत किया जा सकता है। योग साधना को नियमित जीवन में अंगीकृत करके सतत क्रियाशील तथा सार्थक जीवन का संकल्प लेना ही होगा, अन्यथा योग दिवस का कार्यक्रम मात्र कर्मकांड बनकर रह जायेगा योग साधना को जीवन में उतारकर मनुष्य न केवल व्यक्तिगत कार्यक्षमताओं को विकसित कर अपने अपने कार्यक्षेत्र में सफलता को सिद्ध कर सकता है अपितु समाज में शांति एवं स्थिरता बनाये रखने में भी सहयोगी होता है।
    कार्यक्रम के संयोजन में विवेक सृष्टि, वात्सल्य फाउंडेशन, सेवा, रघुवर दयाल मेमोरियल ट्रस्ट, प्रयास सेवा संस्थान एवं प्रयास ट्रस्ट के कार्यकर्ता कई दिनों से सक्रिय रूप से लगे रहेद्य सेवा के सचिव ई. रवि तिवारी, ने बताया कि 2015 में आयोजित प्रथम योग दिवस समारोह से लेकर आज चतुर्थ योग दिवस तक नियमित योग साधना के प्रति रूचि विकसित करने वाले साधकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैद्य निकट भविष्य में निश्चित ही इसके सुखद परिणाम प्राप्त होंगे।
    अयोध्या महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कार्यक्रम में उपस्थित साधकों की तपस्या एवं अयोध्या की धरती पर चल रही इस निरंतर साधना को भारत के वैश्विक स्वीकार्यता की पृष्ठभूमि में एक महत्त्वपूर्ण आयोजन की संज्ञा दीद्य उन्होंने कहा कि समाज में चल रही सकारात्मक गतिविधयां देश के विकास में अतिमहत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करती हैं। सभी साधकों को कोटि-कोटि शुभकामनायें देते हुए नियमित साधना के प्रति समर्पित होने का आह्वान किया। इस अवसर पर विवेक सृष्टि के मन्त्री राजेश मंध्यान, कोषाध्यक्ष रामकुमार गुप्ता, विवेक शुक्ल, पवन पाण्डेय, प्रवीण सिंह, डॉ0 आर के सिंह, सूर्य भान पाण्डेय, सहजराम यादव, त्रिभुवन यादव, राजेश वर्मा, राजेन्द्र मिश्र, भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अभिषेक मिश्र, राधेश्याम त्यागी, ईश्वर चंद्र तिवारी, विजय कुमार सिंह बंटी, डॉ नागेन्द्र मणि त्रिपाठी, डॉ दिलीप सिंह, डॉ एस एस मिश्र, वासुदेव मौर्य, संघ के विभाग प्रचारक अमरनाथ जी, राजापाल सिंह, अमर सिंह, डॉ पूजा थापर, सीमा तिवारी, ममता श्रीवास्तवा, सोनी सिंह, वंदना द्विवेदी, ऋचा द्विवेदी, आशा तिवारी, अवंतिका, कल्पना, पूनम श्रीवास्तवा, रीता मिश्रा आदि अनेकों गणमान्यजन एवं साधकगण उपस्थित रहे।