The news is by your side.

डकैती की योजना बना रह दो युवक गिरफ्तार

-तीन पिस्टल, एक तमंचा व कारतूस बरामद

अयोध्या। महराजगंज थाना पुलिस ने क्षेत्र के बेलसंडी पुलिया के पास से भोर में मुठभेड़ के दौरान दो युवकों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने  तीन पिस्टल व कारतूस बरामद किया है। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए युवक डकैती की योजना बना रहे थे और इनमें से एक अवैध शस्त्र की बिक्री में शामिल रहा है।  थानाअध्यक्ष अमरजीत सिंह ने बताया कि बेलसंडी पुलिया के पास डकैती की योजना बना रहे लोगों की जानकारी के बाद पुलिस ने घेराबंदी की तो दो लोग भागने लगे और पुलिस पर फायरिंग की। हालंकि पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया।

Advertisements

पूछताछ में एक ने अपना नाम पता सत्य प्रकाश सिंह उर्फ रिंकू सिंह निवासी बैसिंह थाना पूराकलंदर और दूसरे ने सत्येंद्र सिंह उर्फ जिगर निवासी बभनियावां ड्योढ़ी बाजार थाना रौनाही बताया। तलाशी में सत्य प्रकाश के पास 9 एमएम की एक पिस्टल मय मैगजीन, चार जिंदा व चार खोखा कारतूस तथा .32 बोर की एक पिस्टल,3 जिन्दा व तीन खोखा कारतूस और सत्येंद्र सिंह के पास से 9 एमएम की एक पिस्टल मय मैगजीन, चार कारतूस व् एक तमंचा बरामद हुआ है। आरोपियों के खिलाफ अलग-अलग आयुध अधिनियम तथा डकैती की योजना बनाने व जानलेवा हमला आदि की धारा में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

उन्होंने बताया कि पकड़ा गया सत्येंद्र रौनाही थाने का हिस्ट्रीशीटर व अवैध असलहा सप्लायर है और उसके खिलाफ रौनाही, गोसाईगंज व मवई थाने में गुंडा एक्ट, जानलेवा हमला, आयुध अधिनियम, एनडीपीएस एक्ट और अगवा आदि के एक दर्जन मामले दर्ज मिले हैं। आरोपियों का पुलिस ने चालान किया है। उधर पूराकलन्दर थाना पुलिस ने क्षेत्र के  नरियावा मोड के पास से रविवार की सुबह मयंक सिंह निवासी ग्राम सरियावा थाना पूराकलन्दर को गिरफ्तार किया है।  पुलिस ने इसके पास से 32 बोर की एक पिस्टल व 4 कारतूस, एक तमंचा,5 कारतूस 38.5 बोर,4 कारतूस 9 एमएम बोर व 5 कारतूस .38 बोर तथा एक कारतूस .303 बोर बरामद किया है।

इसे भी पढ़े  अवध विवि में योग की शपथ के साथ विश्व रिकार्ड बनाने की तैयारी

आशंका है कि मयंक अवैध असलहे की खरीद-फरोख्त में शामिल है।  गिरफ्तारी करने वाले उपनिरीक्षक राजकुमार ने बताया कि आयुध अधिनियम के तहत नामजद रिपोर्ट दर्ज करवा आरोपी का चालान किया गया है। इसके खिलाफ पूराकलन्दर थाने में आयुध अधिनियम, मोबाइल पर धमकी तथा जानलेवा हमले का तीन मामला दर्ज मिला है अन्य थानों से आपराधिक इतिहास पता कराया जा रहा है।

Advertisements

Comments are closed.