The news is by your side.

जमीनी विवाद में दो पक्षों में मारपीट

मौके पर पहुंची पुलिस ने सात लोगों पर दर्ज किया मुकदमा

बीकापुर। कोतवाली क्षेत्र के दो अलग अलग गॉवों में जमीन के कब्जेदारी व गवई रंजिश को लेकर हुई मारपीट में कई लोगों को चोटें आयी है। जिन्हे मेडिकल परीक्षण एवं प्राथमिक उपचार के लिए बीकापुर सीएचसी में उपचारित कराया गया। पहली चर्चित घटना नन्दरौली गॉव में हुई जहां एक पक्ष द्वारा कोर्ट के स्थगन आदेश की अवमानना कर आवास निर्माण कार्य के विरोध में दूसरे पक्ष के लोगो के प्रतिरोध कर देने पर दोनों पक्षो में गाली गलौज व ईंट पत्थर चल गये। जिससे दोनों पक्षों के लोगो को हल्की फल्की चोटे आयी। घण्टे भर बाद जब पुलिस पहुची तब कही जाकर मामला शान्त हुआ। इस सम्बन्ध में शबीना पुत्री मुन्सिफ हुसैन निवासी नन्दरौली की तहरीर पर इमरान अहमद मुजीब अहमद अनीता उर्फ सीमा नौशाद अली ताबिस हबीब अमहद फरहान निवासी नन्दरौली सहित 7 लोगो के खिलाफ अ0सं0 22/19 धारा 147 323 504 506 452 294 व 427 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। जबकि इसी मामले में दूसरे पक्ष की अनीसा खातून की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर मेडिकल परीक्षण के बाद कोतवाली पुलिस आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्यवाही में जुटी बतायी गई। जिसमें आरोप लगाया गया है कि जब उसकी खतौनी की भूमि में रखी गयी ईंटों को हटाने पहुंची तो तबस्सुम हुसैन सहित उनके परिवार के लोग एक जुट होकर ईंट हटाने से रोकते हुए अभद्र गालियां व जान से मारने की धमकी देकर्र इंट पत्थर चला दिये। जिसमें फराज व अनीसा को चोटे आयीं। दूसरी घटना कोतवाली क्षेत्र के रहेट गॉव की है। जहां पुरानी गवईं रंजिश को लेकर रविवार को जब सुशील कुमार अपने ट्रेक्टर में बांधकर पुरानी गुलर की लकडी को चिराई के लिए आरा मशीन पर लेकर जा रहा था। तो गॉव के बाहर पहुचने पर महेश मौर्या संन्तोष सुरेन्द्र प्रदीप ने घेरा बन्दी करके ट्रैक्टर रोक दिया और सुशली पर हमला बोल दिये। गुहार सुहनकर जब सुशील का भाई सुनील बचाव में दौडा तो हमलावरों ने एकजुट होकर उसकी पिटाई शुरू कर दी और गला दबाकर आंख पर गहरी चोट पहुचाई। घटना की सूचना पर पुलिस ने मौके पर जाकर चोटहिल सुनील कुमार व सुशील सहित आरोपियों को हिरासत में लेकर कोतवाली लायी तथा चोटहिल सुनील व सुशील को बीकापुर सीएचसी में उपचारित करवाकर कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.