समाज निर्माण में ब्राह्मणों की महती भूमिका : डॉ. सूर्य कुमार शुक्ला

अयोध्या। समाज निर्माण में ब्राह्मणों की महती भूमिका है इसके लिए एकजुटता की आवश्यकता है समाज को जुर्म अत्याचार के खिलाफ सतत संघर्ष करके हुए नौजवानों को पढ़ाई और रोजगार के प्रति प्रेरित करने की महती जिम्मेदारी है संगठन की है यह उद्गार अखिल भारतीय चाणक्य परिषद के रजत जयंती वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अवकाश प्राप्त डी जी डॉ. सूर्य कुमार शुक्ला ने व्यक्त किया।वहीं विशिष्ट अतिथि पूर्व राज्य मंत्री पंडित राम कुमार शुक्ला ने संगठन की मजबूती के लिए स्वयं को भागीदार होना बताते हुए हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। परिषद के प्रदेश अध्यक्ष पवन पांडे ने ब्राह्मणों की रक्षा करने के लिए संपूर्ण देश में संगठन को मजबूत करने का आवाहन किया। कार्यक्रम में राष्ट्रपति को संबोधित दो सूत्रीय ज्ञापन जिसमें आर्थिक आधार पर आरक्षण देने और एससी एसटी एक्ट और सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन कराने क्या ज्ञापन भेजा गया ।कार्यक्रम में जिला संगठन मंत्री जनार्दन पांडे जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद तिवारी आफत महामंत्री लषणधर त्रिपाठी संत करपात्री महाराज राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष गुरु प्रसाद पांडे ब्राह्मण समाज अध्यक्ष वीरेंद्र मिश्र पूर्व राज्य मंत्री अवधेश पांडे पूर्व जिलाधिकारी बीपी चतुर्वेदी दरियाबाद ब्लाक प्रमुख विवेक पांडे ब्लॉक अध्यक्ष मिल्कीपुर पंडित सिद्धेश्वरी प्रसाद त्रिपाठी परमानंद पाठक दुर्गा प्रसाद तिवारी तिवारी आफत महामंत्री लखंदर त्रिपाठी करपात्री महाराज राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष गुरु प्रसाद पांडे ब्राह्मण समाज अध्यक्ष वीरेंद्र मिश्र लखनऊ पूर्व राज्य मंत्री अवधेश पांडे पूर्व जिलाधिकारी बीपी चतुर्वेदी दरियाबाद ब्लॉक विवेक पांडे मिल्कीपुर अध्यक्ष पंडित सिद्धेश्वरी प्रसाद त्रिपाठी जिला प्रवक्ता राकेश तिवारी राष्ट्रीय सलाहकार बीपी शुक्ल ब्राह्मण समाज अध्यक्ष धनंजय द्विवेदी असीम पांडे राम भरत पांडे आदि ने संबोधित किया कार्यक्रम में प्रमुख रूप से बाबूराम पांडे डॉ सुरेंद्र दुबे कपिल देव तिवारी दीनदयाल तिवारी इंद्रपाल मिश्रा ओम प्रकाश पांडे उर्फ राजू दुबे मिंटू दुबे हनुमान प्रसाद शुक्ला शेषमणि पांडे आदिभारी संख्या में ब्राह्मण समाज के लोग उपस्थित रहे ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More