The news is by your side.

ओबीसी वर्ग के साथ नहीं होगी ज्यादती : जस्टिस राम अवतार सिंह

-अयोध्या पहुंचे पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्यों ने ओबीसी जनसंख्या का लिया ब्यौरा

अयोध्या। उत्तर प्रदेश राज्य स्थानीय निकाय समर्पित पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष सदस्यों के साथ गुरुवार को अयोध्या पहुंचे। आयुक्त सभागार में पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्यों ने मंडल के अधिकारी के साथ बैठक की। आयोग के अध्यक्ष जस्टिस राम अवतार सिंह ने मंडल के सभी जिलों के जिला प्रशासन से रिपोर्ट लिया। इसमें ओबीसी आरक्षण को लेकर मंडल के पांचों जिला प्रशासन से ओबीसी की जनसंख्या का ब्यौरा लिया। पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष जस्टिस राम अवतार सिंह ने कहा कि प्रशासन से रिपोर्ट ली जा रही है। इसके बाद मौके पर जाकर रिपोर्ट की जांच करेंगे। ताकि यह स्पष्ट हो सके कि कहीं कोई रिपोर्ट गलत तो नहीं दी गई है।

Advertisements

इसके बाद टाउन एरिया, नगर पालिका व मोहल्लों में घूम कर भौतिकी कर जानकारी देंगे। साथ ही ओबीसी की जनसंख्या का आकलन करेंगे। यह भी सुनिश्चित करेंगे कि वहां पर आरक्षण की पोजीशन क्या है, इसकी भी जांच करेंगे। अध्यक्ष जस्टिस राम अवतार सिंह ने कहा कि ओबीसी आरक्षण के लिए सरकार का बहुत बड़ा कदम है। ओबीसी के लिए हम समर्पित हैं, हमारी कोशिश है कि ओबीसी वर्ग के साथ किसी भी प्रकार की ज्यादती न हो। इन्हें प्रतिनिधित्व मिले। उनके साथ अत्याचार ना हो। पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य चोब सिंह वर्मा, महेंद्र कुमार,बृजेश सोनी व संतोष विश्वकर्मा भी रहे मौजूद रहे।

अयोध्या में आगमन पर मण्डलायुक्त गौरव दयाल, जिलाधिकारी नितीश कुमार द्वारा आयुक्त सभागार में स्वागत किया। गया। तदोपरांत अध्यक्ष एवं सदस्यगणों द्वारा आयुक्त सभागार में मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी अयोध्या, जिलाधिकारी सुल्तानपुर रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर सैमुअल पाल, जिलाधिकारी बाराबंकी अविनाश कुमार, जिलाधिकारी अमेठी राकेश कुमार मिश्र तथा अपर जिलाधिकारीगण (प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय) व नगर निकाय के अपर नगर आयुक्त तथा अधिशासी अधिकारियों आदि से परिचय प्राप्त करते हुये आयोग के गठन एवं इसके उद्देश्यों सहित आदि की जानकारी दी गयी।

इसे भी पढ़े  रामद्रोही और रामभक्तों के बीच बंट गया है चुनाव : योगी आदित्यनाथ

आयोग के अध्यक्ष न्यायामूर्ति राम औतार सिंह के नेतृत्व में आयोग के सदस्यों ने प्रशासन के साथ वार्तालाप को सकारात्मक बताया तथा सभी से सहयोग की अपील की। अगले चरण में आयुक्त सभागार में विभिन्न राजनैतिक पार्टी के प्रतिनिधियों से मुलाकात की तथा कहा कि पिछड़ा वर्ग समुदाय के प्रति राजनैतिक रूप से स्थानीय निकाय के चुनाव में भागीदारी में कोई अन्याय न हो इसके लिए जिसको जानकारी है वह 20 जनवरी तक प्रत्यावेदन प्रस्तुत कर उपलब्ध करा सकता है इस बैठक में मण्डल के सभी जिलाधिकारियों एवं अपर जिलाधिकारियों द्वारा अपने-अपने जनपद से सम्बंधित स्थानीय निकायों के सम्बंध में संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया गया। आयोग द्वारा यह भी कहा गया कि किसी भी स्थिति में आरक्षण 50 प्रतिशत से अधिक नही हो सकता है इसका भी ध्यान रखा जाय तथा अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण 27 प्रतिशत से ज्यादा न हों।

मण्डलायुक्त गौरव दयाल ने मण्डल के सभी अधिकारियों से आयोग द्वारा चाही गयी सभी सूचनाओं को सटीक आकड़े निर्धारित समय अवधि में प्रस्तुत करने को कहा तथा आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्यगणों का मण्डल अयोध्या में आगमन एवं आयोग द्वारा दी गयी जानकारियों के लिए आभार व्यक्त किया तथा सभी अधिकारियों से सहयोग की अपील की। बैठक का संचालन अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय अमित सिंह ने किया।

 

Advertisements

Comments are closed.