The news is by your side.

भक्तिपथ की जद में आने वाले भवनों का ध्वस्तीकरण पूर्ण

-रेडीमिक्स कंक्रीट प्लाट व मशीनरी मोबलाईजेशन कराकर, सीवर लाइन का कार्य प्रारम्भ

अयोध्या। जिलाधिकारी नितीश कुमार ने आयुक्त सभागार में मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या के चहुंमुखी विकास हेतु अयोध्या विजन डाक्यूमेंट 2047 के अन्तर्गत कराये जा रहे विभिन्न विकास परियोजनाओं को आगणन की विशिष्टताओं के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्व रूप से पूर्ण करने हेतु सम्बंधित विभाग के अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिये।

Advertisements

बैठक में जिलाधिकारी को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के प्रमुख सम्पर्क मार्गो के चैड़ीकरण/सुदृढ़ीकरण कार्य की प्रगति के सम्बंध में अवगत कराया गया कि अब तक (18 जनवरी) 798 बैनामें हो चुके है इसी के साथ चैड़ीकरण की जद में आने वाले भवनों के ध्वस्तीकरण का कार्य दुकानदारों/भवन स्वामियों की सहमति से तीव्र गति से किया जा रहा है जिस पर जिलाधिकारी ने शेष बैनामों को सम्बंधित दुकानदारों/भू-स्वामियों से समन्वय कर शीघ्र कराने तथा ध्वस्तीकरण के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने दुकानदारों की समस्याओं व शंकाओं का त्वरित समाधान भी सुनिश्चित करते रहने हेतु सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। जिलाधिकारी नवम्बर तक कार्य पूर्ण करने हेतु लोक निर्माण विभाग को कब-कब कितने-कितने समय में क्या-क्या करेंगे का टाइम लाइन बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने रामपथ की डिजाइन में समस्त विश्व स्तरीय सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। भक्तिपथ के चैड़ीकरण की जद में आने वाले समस्त दुकानों/भवनों के ध्वस्तीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है, रेडीमिक्स कंक्रीट प्लाट व मशीनरी मोबलाईजेशन कराकर, सीवर लाइन का कार्य प्रारम्भ करा दिया गया है। इसी के साथ ही जन्मभूमि पथ में जिलाधिकारी ने पर्याप्त मानव संसाधन लगाकर ड्रेन/यूटीलिटी डाक्ट का कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कुण्डों के सौन्दर्यीकरण के शेष कार्यो को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने राजर्षि दशरथ राजकीय मेडिकल कालेज दर्शननगर तथा शासकीय डिग्री महाविद्यालय परसांवा अयोध्या के शेष कार्यो को शीघ्र करने के निर्देश दिये। बैठक में अवगत कराया गया कि राजकीय इंटर कालेज मिल्कीपुर के समस्त निर्माण कार्यो को 31 मार्च तक पूर्ण कर लिया जायेगा तथा अगले सत्र से प्रवेश/शिक्षण कार्य प्रारम्भ होगा।

इसे भी पढ़े  देश सेवा को समर्पित था डा. अंबेडकर का जीवन : डा. बिजेंद्र सिंह

बैठक में जिलाधिकारी ने अन्तर्राष्ट्रीय रामकथा संग्रहालय में डिजिटल आर्ट गैलरी चारों स्क्रीनों में चलने वाले कण्टेण्ट को और बेहतर करने हेतु राजकीय निर्माण निगम उ0प्र0 को निर्देशित किया। अधिशाषी अभियन्ता सरयू नहर खण्ड ने बताया कि गुप्तारघाट से जमथरा घाट (1.50 किमी0) तक तटबंध के निर्माण एवं पूर्व में हरिश्चन्द्र उदया तटबंध के किमी0 0.00 से किमी0 3.90 तक रेस्टोरेशन कार्य की परियोजना का 92 प्रतिशत कार्य पूर्ण है। जिलाधिकारी ने शेष कार्य को भी शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुनवा का 98 प्रतिशत कार्य पूर्ण है। जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुनवा के शेष समस्त निर्माण कार्यो को पूर्ण कर थर्ड पार्टी चेकिंग कराकर हैंडओवर कराने के निर्देश दिये। आई0टी0आई0 मिल्कीपुर का 88 प्रतिशत कार्य पूर्ण, आई0टी0आई0 सोहावल का 98 प्रतिशत कार्य पूर्ण है, शेष कार्यो में तेजी लाने तथा गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने हेतु जिलाधिकारी ने निर्देशित किया।

कलेक्ट्रेट के निकट स्मार्ट पार्किंग का निर्माण के प्रगति की जानकारी देते हुये कार्यदायी संस्था कॉन्स्ट्रक्शन एण्ड डिजाइन सर्विसेज (यूनिट 44) के प्रोजेक्ट मैनेजर ने अवगत कराया कि पार्किंग सुविधा विकास कार्य के तहत कलेक्ट्रेट के पीछे बनाये जा रहे स्मार्ट पार्किंग (ग्राउण्ड प्लस 4) में 282 नग चार पहिया वाहन, 309 नग दो पहिया वाहन, 15 नग दुकानें, एक नग कैंटीन तथा अवस्थापना सम्बंधी अन्य कार्यो को तीव्र गति से कराया जा रहा है। इसमें लोअर, अपर ग्राउण्ड, प्रथम तल एवं द्वितीय तल की छत ढलाई का कार्य पूर्ण, चिनाई कार्य प्रगति पर है तथा तीसरे तल पर कालम ढलाई का कार्य प्रगति पर है इस प्रकार कुल 48 प्रतिशत कार्य पूर्ण है।

इसे भी पढ़े  कांग्रेस जिला महासचिव, सचिव समेत सैकड़ों लोगों ने थामा भाजपा का दामन

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित विभिन्न निर्माण परियोजनाओं से सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को अपने-अपने विभाग से सम्बंधित निर्माण कार्यो को स्वयं भी नियमित निरीक्षण करने व आगणन की विशिष्टताओं के अनुरूप गुणवत्ता सुनिनिश्चित करते हुये समयबद्व रूप से कार्यो को पूर्ण कराना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक (डी0आर0डी0ए0), एस0डी0एम0 सदर, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, ए0डी0एम0 वित्त एवं राजस्व सहित सम्बंधित विभागों एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.