धनुष भंग होते ही दर्शक दीर्घा में जयकारों से गूंज उठा पंडाल

रामलीला में धनुष भंग व परशुराम-लक्ष्मण संवाद का हुआ सुंदर मंचन

गोसाईगंज। श्री रामलीला के दूसरे दिन की रात धनुष यज्ञ, परशुराम-लक्ष्मण संवाद की लीला का सजीव मंचन कर कलाकारों ने दर्शकों को भावविभोर कर दिया ।
गोसाईगंज में चल रही श्री राम लीला के दूसरे दिन धनुष यज्ञ की लीला का शुभारंभ मिथिलाधिराज राजा जनक द्वारा सीता स्वयंवर में शिव के धनुष अजगव की आरती- वंदना के साथ प्रारंभ हुई । राजा जनक की प्रतिज्ञा अनुसार शिव धनुष तोड़ने वाले से पुत्री सीता का विवाह करने की घोषणा के तहत देश देशांतर के राजा गण जब धनुष को तोड़ना तो दूर उसे टस से मस नहीं कर सके तो राजा जनक भावुक और व्याकुल हो गए । राजा जनक का अभिनय कर रहे कमलेश वर्मा ने अपने कुशल अभिनय से दर्शकों को भावविभोर कर दिया । लीला मंचन के दौरान लखपतिया के झांकियों का लोगों ने खूब आनंद उठाया। इस दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की दूल्हा झांकी ने सभी का मन मोह लिया । कौमिक कलाकार राहुल फ्लावर अजूबा ने पेटू राजा हुडदग का आकर्षक अभिनय कर दर्शकों को लोटपोट कर दिया ।
मुनि विश्वामित्र की आज्ञा पाकर भगवान राम जब शिव के धनुष को तोड़ने चले तो नर नारियों में हर्ष व्याप्त हो गया । भगवान राम के धनुष तोड़ते ही दर्शक दीर्घा में उपस्थित महिलाओं ने करतल ध्वनि के बीच मंगल गीत तथा बधाई गीत गाए इस बीच जय श्रीराम के जयकारों से पांडाल गूंज उठा।
परशुराम की भूमिका में चंदन मोदनवाल तथा लक्ष्मण अभिनेता अरविंद कसौधन के बीच लक्ष्मण परशुराम संवाद ने दर्शकों को रोमांचित कर दिया । रात्रि 11ः00 बजे तक कस्बे के प्रबुद्ध जन परशुराम -लक्ष्मण संवाद का आनंद लेते रहे ।इस अवसर पर रामलीला समिति के संरक्षक श्रीनाथ गुप्ता बजरंग समिति के अध्यक्ष अशोक मोदनवाल प्रदीप जायसवाल संजय पराग हेमंत कसौधन गोपीनाथ अंगियार हनुमान सोनी एवं रामलीला समिति व बजरंग समिति के सदस्यगण सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे ।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  दंगल प्रतियोगिता में दिखा अंतरराष्ट्रीय स्तर के पहलवानों का हुनर