आजादी के संघर्ष में गांधी की रही अहम भूमिका : रामदास

रूदौली में आयोजित की गयी विचार गोष्ठी

Advertisement

रूदौली। गांधी जी का नाम आते ही देशवासियों के दिल व दिमाग उनके सत्य एवं अहिंसा के उसूलों को चिंतन करते हैं।वह केवल एक मनुष्य ही नही एक महान विचारक व महामानव के रूप में जाने जाते हैं।उक्त विचार जिला कांग्रेस के अध्यक्ष रामदास वर्मा ने महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती के अवसर पर रूदौली नगर स्थित नन्द किशोर हायर सेकेंडरी में आयोजित एक विचार गोष्ठी में व्यक्त किये।श्री वर्मा ने कहा कि मुल्क की आजादी के संघर्ष में उनकी बहुत बड़ी भूमिका रही है।शांति अहिंसा के दूत व पुजारी ने जब अंग्रेजों को मुल्क से भगाने का आन्दोलन चलाया और सत्याग्रह की घोषणा की तो अंग्रेज शासकों के पैर उखड़ने लगे।विवश होकर अंग्रेजों को भारत छोड़ना पड़ा।उन्होंने कहा कि गांधी जी केवल क्रांति के वाहक ही नही बल्कि शांति दूत भी थे।सत्य अहिंसा के उनके विचारों को आज संयुक्तराष्ट्र भी अपना रहा है जो मुल्क के लिये गौरव की बात है।गोष्ठी से पूर्व जिला अध्यक्ष ने गांधी जी के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किये।गोष्ठी की अध्यक्षता विद्यालय के प्रबन्धक शीतला प्रसाद मिश्र ने किया तथा संचालन सुशील त्रिवेदी रमरम ने किया।गोष्ठी को पी सी सी सदस्य राकेश बन्सल, कारिब करनी,जिला संगठन मंत्री तारिक रुदौलवी,कांग्रेस नेता प्रदीप कोरी,ब्लाक कांग्रेस मवई के अध्यक्ष मुजतबा खाँ, नगर अध्यक्ष शिव प्रकाश कसौधन, प्रताप बहादुर सिंह रूदौली ब्लाक अध्यक्ष अतीकुर्रहमान,जिला महासचिव मान सिंह,राम देव गुप्ता, मो0 कदीर खाँ मो0 फहीम,अशीष तिवारी,राम कृष्ण शुक्ला, राम बख्श रावत, आदिनाथ मिश्रा आदि ने सम्बोधित किया।

इसे भी पढ़े  श्रीराम ने तोड़ा शिव का धनुष, गूंजे जयकारे