The news is by your side.

सनातन धर्म का मूल मंत्र सेवा : महंत संजय दास

-संकटमोचन सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन सेवा दिवस के रुप में मना, अंध विद्यालय, वृद्धा आश्रम, कुष्ठ आश्रम में फल अन्न व वस्त्र किया गया वितरण

-27 व 28 नवंबर को अयोध्या में होगा विशाल आयुर्वेद कुंभ

अखाड़ा परिषद के निधन पर शोक सभा में श्रद्धांजलि देते संत

अयोध्या। रामनगरी के प्रसिद्ध पीठ श्री हनुमानगढ़ी के शीर्ष श्री महंत ज्ञानदास  महाराज के उत्ताराधिकारी संकटमोचन सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत संजय दास के जन्मदिन को पुजारी हेमंत दास  व उनके सहयोगियों ने विशाल सेवा दिवस के रुप में मनाया।
इस सेवा दिवस के मूल में गरीबों असहायों व दीन दुखियों के सेवा से जुड़ा रहा। जिसमें सबसे पहले हनुमानगढ़ी पर विशेष पूजा अर्चना किया गया और हनुमत यज्ञशाला के हवन कुंड में आहुतियां डाली गई। इसके बाद कनक बिहारी सरकार का पूजन हुआ। इसके बाद श्रीराम अस्पताल में भर्ती मरीजों को फल वितरण किया और उनका हालचाल जाना,वृद्धा आश्रम पहुंचकर वृद्ध महिलाओं को फल वितरण किया गया और विकलांग अंध विद्यालय में विकलांगों की सेवा की गई।

Advertisements

सेवा दिवस में भागवताचार्य स्मारक सदन में एक सभा का आयोजन हुआ जिसमें अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी और कोविड काल में मृत आत्माओं को मौन रखकर के उनके आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई। सभा का संचालन पवन दास व अध्यक्षता जगद्गुरू रामानन्दाचार्य स्वामी रामदिनेशाचार्य ने किया। महंत संजय दास ने कहा कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष की मृत्यु पर अयोध्या के संत समाज के साथ पूरे विश्व का संत समाज स्तब्ध है और सरकार से सीबीआई जांच की मांग करता है क्योंकि राज्य की एजेंसियां या पुलिस प्रशासन निष्पक्ष जांच नहीं करेगी।उन्होंने कहा सबसे पहले इस घटना की निष्पक्ष जांच हो जिससे उनके मृत्यु का पता चले उसके बाद संत समाज नए अध्यक्ष का चयन करेगा। उन्होंने कहा सनातन धर्म का मूल मंत्र सेवा है और परम पूज्य गुरुदेव महंत ज्ञान दास जी महाराज की अध्यक्षता में 27 व 28 नवंबर को अयोध्या में आयुर्वेद कुंभ का आयोजन किया जाएगा जिसमें हजारों लोगों की सेवा निशुल्क की जाएगी। महंत माधव दास ने कहा संकट मोचन सेना का मुख्य उद्देश्य सेवा है। महंत संजय दास बहुत बधाई के पात्र है आज समाज में सेवा प्रकल्प की वजह से लोगो के दिलो में संजय दास ने जगह बनाया है। माधव बाबा ने कहा कि इनके गुरु जी के साथ हम थे इनके साथ भी है और इनके शिष्यों के साथ भी हम रहेंगे।महंत माधव दास ने कहा संजय दास नये साधुओं के लिए एक मिशाल है।

इसे भी पढ़े  अयोध्या की धार्मिक, ऐतिहासिक सांस्कृतिक विरासतों का हो संरक्षण

रामानंद सम्प्रदाय में सेवा ही परिचय है। जगद्गुरू रामानन्दाचार्य स्वामी रामदिनेशाचार्य जी महाराज ने कहा संकट मोचन सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय दास महाराज निरंतर उत्तरोत्तर अयोध्या में सेवा का कार्य करते रहे है। इनका जन्मोत्सव सेवा महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है वह बहुत ही सराहनीय है और मैं आशा करता हूं की निरंतर यह सेवा का कार्य अयोध्या की धरती से पूरे भारत में चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि बाघमबारी गद्दी में पहले से संपत्ति विवाद था इसी विवाद में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष की हत्या हुई इसकी निष्पक्ष सीबीआई से जांच होनी चाहिए। महंत कृपालु राम भूषण दास जी महाराज मैं ठाकुर जी से निवेदन करता हूं दिन प्रतिदिन महंत संजय दास के ऊर्जा और उत्साह में संवर्धन करते रहें जिससे निरंतर समाज में सेवा का कार्य चलता रहे।सभा में महंत सत्यदेव दास,रघुवंश संकल्प सेवा ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिलीप दास त्यागी, महंत गिरीश पति त्रिपाठी, पुजारी हेमंत दास, महंत हरिभजन दास ने अपने विचार रखें।इस मौके पर महंत अजीत दास,प्रेम मूर्ति कृष्णकांत दास,अंकित दास अभिषेक दास सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.