The news is by your side.

जानलेवा हमले में घायल शिक्षक की इलाज के दौरान मौत

-पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने ग्राम प्रधान सहित उसके बेटे के खिलाफ दर्ज किया केस

अयोध्या। थाना महराजगंज इलाके में खलिहान की जमीन पर ग्राम प्रधान द्वारा बनवाये जा रहे एएनएम सेंटर की शिकायत करना शिक्षक दुष्यंत की मौत का कारण बना।मृतक शिक्षक की पत्नी की शिकायत पर मुकामी पुलिस ने ग्राम प्रधान सहित उसके बेटे और तीन से चार अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है।

Advertisements

महराजगंज थाना इलाके के ग्राम अमौनी निवासी शिक्षक दुष्यंत कुमार इलाके के ही नेवकबीरपुर स्थित बाबा दूधनाथ लघु माध्यमिक विद्यालय में बतौर शिक्षक कार्यरत थे। मृतक शिक्षक की पत्नी सावित्री का कहना हैं कि ग्राम प्रधान द्वारा खलिहान की जमीन पर अवैध एएनएम सेंटर का निर्माण कराया जा रहा था। जिसकी शिकायत शिक्षक ने उच्चाधिकारियों से की थी।

आरोप हैं कि यह बात ग्राम प्रधान को नागवार लगी और प्रधान व बेटे ने उन्हें सबक सिखाने व जानमाल की धमकी पहले भी दे डाली थी। सोमवार की दोपहर समय करीब 2.10 बजे अजय नामक व्यकित के साथ लौट रहे शिक्षक पर अलना भारी के पास पहुँचने पर ग्राम प्रधान की साजिश के तहत उनके बेटे व अन्य ने हमला बोल शिक्षक को मार पीट कर अधमरा कर दिया था।जिनका इलाज मण्डलीय चिकित्सालय दर्शननगर में चल रहा था। मंगलवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी।

एसएचओ अनुपम मिश्र ने बताया कि पत्नी के तहरीर पर ग्राम प्रधान सन्तोष सिंह,उसके पुत्र शशांक सिंह उर्फ गोलू सहित तीन से चार अज्ञात के खिलाफ मु0अ0स0 89/23धारा147, 148, 149, 323, 325, 308, 504, 506, 120बी व एससी/एसटी ऐक्ट के तहत केस दर्ज है। जिसमे हत्या की धारा की धारा का इजाफा किया गया है। घटना से शिक्षको में रोष व्याप्त है।

इसे भी पढ़े  विवि परिसर के पाठ्यक्रमों को लेकर कुलपति ने की समीक्षा बैठक

 

Advertisements

Comments are closed.