The news is by your side.

संविदा नौकरी दिलाने के लिए पैसा लेना बना रामराज की हत्या का कारण

-नगर निगम के रिटायर्ड कर्मचारी की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

अयोध्या। कोतवाली नगर क्षेत्र के पुष्पराज चौराहे के पास 8 मई को एक मकान में नगर निगम के रिटायर्ड कर्मचारी रामराज की हुई हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। एसपी सिटी विजय पाल सिंह ने बताया कि रिटायर्ड कर्मचारी ने नगर निगम में संविदा की नौकरी दिलाने के लिए पैसा लिया था। पैंसा वापस मांगने के दौरान हुई नोंक झोंक में दो युवकों ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

Advertisements

एसपी सिटी ने बताया कि रिटायर्ड कर्मी के हत्यारे अज्ञात थे परन्तु पुलिस ने 10 घंटे में हत्या का खुलासा करके दोनो युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मृतक के मोबाइल को सर्विलास पर रखकर जांच प्रारम्भ की जिसमें संदिग्ध पुलिस की जांच में सामने आये तो पुलिस ने नाका ओवरब्रिज के पास से नरेन्द्र कुमार शर्मा उर्फ खब्बू पुत्र राम प्रसाद निवासी परूआ थाना बीकापुर व धमेन्द्र उर्फ लवकुश शर्मा पुत्र हरिराम शर्मा निवासी मायन थाना धनपतपुर जनपद सुल्तानपुर को गिरतार किया।

अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में कोतवाली नगर प्रभारी नितीश कुमार श्रीवास्तव, उ0नि0 सुनील कुमार प्रभारी चौकी रिकाबगंज, उ0नि0 जगन्नाथमणि त्रिपाठी प्रभारी चौकी सिविल लाइन, उ0नि0 सत्य प्रकाश यादव प्रभारी चौकी अलीगढ़, उ0नि0 दिवाकर प्रभारी चौकी रामनगर, आरक्षी मनीष तिवारी सर्विलांस सेल, लल्लू यादव, संजय यादव, जितेन्द्र बहादुर सरोज, विश्वदीपक तिवारी, ज्ञान प्रकाश यादव, नीरज यादव शामिल थे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय द्वारा उक्त टीम को घटना के सफल अनावरण करने पर 20,000 रुपये नगद इनाम देने की घोषणा की है।

Advertisements

Comments are closed.