गन्ना किसान अच्छे मूल्य के लिए करें आर्गेनिक गुड़ का उत्पादन : डा. अनिल कुमार

    • “एक जनपद-एक उत्पाद” लाइव प्रसारण देखने के बाद डीएम ने की बैठक

    • 9 लाभार्थियों को दिये गये 5 करोड़ रूपये से अधिक के ऋण स्वीकृत पत्र

    Advertisement

    फैजाबाद। जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा लखनऊ में ‘‘एक जनपद-एक उत्पाद‘‘ के शुभारम्भ के लाइव प्रसारण देखने के उपरान्त जनपद फैजाबाद के विशिष्ट उत्पाद ‘गुड़‘ की समीक्षा गुड़ उत्पादों, क्रेशर मालिकों, फैजाबाद जैगरी एसोशियेसन के सदस्यों व अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक करते हुये इस विशिष्ट उत्पाद को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए आर्गेनिक गुड़ के उत्पादन पर जोर दिया। इस अवसर पर विधायक रूदौली रामचन्द्र यादव व विधायक मिल्कीपुर बाबा गोरखनाथ ने भी जनपद में अधिक से अधिक गुड़ उत्पादन करने के लिए उपस्थित गुड़ उत्पादको व क्रेशर मालिको को प्रोत्साहित किया और वेहतर बिक्री नीति अपनाकर यहाॅ के गुड़ को देश-विदेश में उपलब्ध कराने को कहा।
    डीएम डा0 अनिल कुमार ने कहा कि एक जनपद एक उत्पाद योजना उ0प्र0 शासन की बहुत ही महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी योजना है। इसके अन्तर्गत विशिष्ट उत्पादों की राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग, रोजगार सृजन, उत्पाद की गुणवत्ता मंे सुधार, तकनीकी उन्नयन, कौशल विकास तथा कामन फैसिलिटी सेन्टर, टेस्टिंग लैब, व्यापार केन्द्रो जैसी अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया जाना है। उन्होने कहा कि छोटे उद्योगो से ज्यादा रोजगार पैदा होता है। यदि गन्ना किसान आर्गेनिक खेती करते है तो उन्हें अपने गन्ने का अधिक मूल्य मिलेगा और उनकी तथा गुड़ उत्पादकों की स्थिति सुदृढ़ होगी। आर्गेनिक खाद्य पदार्थो की मांग विदेशो में भी बहुत अधिक है। गुड़ उत्पादन में नवीनतम आधुनिक टेक्निोलाॅजी के प्रयोग से गुड़ की लागत को कम कर सकते है। अधिक मुनाफा पाने के लिए गुड़ उत्पादक साधारण गुड़ बनाने कें स्थान पर आर्गेनिक गुड़ का उत्पादन करें। ई-बिजनेस को बढ़ावा दिया जायें। उन्होनें कहा कि राज्य व जनपद में ओ0डी0ओ0पी0 के शोरूम भी खोले जायेगें जहां पर ओ0डी0ओ0पी0 में चयनित उत्पादों की उपलब्धता होगी। उन्होनें कहा कि गुड़ उत्पादकों की सभी समस्याओं का समाधान एकल बिन्डो व्यवस्था के द्वारा एक ही स्थान पर की जायेगी। जिलाधिकरी ने कहा कि गुड़ की क्वालटी मे सुधार के लिये आधुनिक टेक्निोलाॅजी पैकेजिंग तथा मार्केटिंग का उपयोग करें, इसके लिये फैजाबाद में गुड़ उत्पादकों, गन्ना किसानों, क्रेशर मालिको की एक कार्यशाला का आयोजन किया जाये, जिसमें विषय विशेषज्ञ व विज्ञानिकों आदि को आंमत्रित कर उन्हें अच्छी गुणवत्ता का गुड़ बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाये। उन्होनें आर्गेनिक गुड़ के देश-विदेश में विपणन हेतु आमेजन तथा फ्लििप कार्ड तथा वाॅलमार्ट व अन्य कम्पनियों से सम्पर्क कर ई-मार्कटिंग की दिशा में भी कार्य करें, इससे गुड़ उत्पादकों को अच्छा मूल्य मिलेगा।
    जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने बताया कि शीघ्र ही फैजाबाद में गुड़ उत्पादन की गुणवत्ता में सुधार व आर्गेनिक गुड़ के उत्पादन हेतु किसानो व गुण उत्पादकों को प्रेरित करने के लिए आवश्यक कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने इस अवसर पर नौ लाभार्थियो राकेश कुमार, मणिन्द शुक्ल, राकेश दूबे, दीपक मौर्य, अनूप पाण्डेय, अंकित श्रीवास्तव आदि को 5 करोड़ रूपये से अधिक के ऋण स्वीकृत पत्र भी प्रदान किये। इस अवसर पर सूचना विभाग की दो एलईडी वैनो द्वारा कलेक्ट्रेट व विकास भवन परिसर में कार्यक्रम का सजीव प्रसारण भी आम जनता को जागरूक करने के लिये किया।
    फैजाबाद जैगरी एसोसियेशन के अध्यक्ष अविनाश चन्द दुबे ने बताया कि गुड़ में अनेक पोषक तत्व एवं औषधीय गुण पाये जाते है, जो स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त लाभदायक है। जनपद में गुड़ निर्माण कार्य परम्परागत रूप से पीढ़ियो से चला आ रहा है। इस उद्योग में हजारों किसान परिवार व मजदूर लगे हुये है। गन्ने के रस से अन्य उत्पाद जैसे सिरका, राॅब, गुड़ पाउडर (बूरा) का भी निर्माण किया जा रहा है। गुड़ के अनेक प्रकार के फ्लेवर में भी आज फैजाबाद में निर्माण हो रहा है। बैठक में जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार, उपायुक्त उद्योग आशुतोष सिंह, एल0डी0एम0, उद्यमी ऐसोसियेशन के मण्डलीय अध्यक्ष अजय सिंघल, जनपदीय अध्यक्ष ओम प्रकाश जायसवाल, फैजाबाद जैगरी एसोसियेशन के अध्यक्ष अविनाश चन्द दुबे व अन्य सदस्य तथा अधिकारीगण उपस्थित थे।