The news is by your side.

यश पैका में यूनिडो के पाइलट प्रोजेक्ट का सफल परीक्षण

-कागज उद्योग जगत में क्रांति लाने के लिए एक अनोखी पहल

संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन (यूनिडो) भारत में लुगदी और कागज उद्योग के लिए प्रौद्योगिकियों और उत्पादकता वृद्धि का दृढ़ स्तर प्रदर्शन के लिए उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT), वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा समर्थित एक पायलट प्रोजेक्ट – “ब्लैक लिकर हीट ट्रीटमेंट” जनवरी माह में दर्शन नगर स्थित, यश पैका लिमिटेड में चालू की थी जो सफल हो गयी है। यह परियोजना केंद्रीय लुगदी और कागज अनुसंधान संस्थान (CPPRI) के साथ-साथ कागज उद्योगों के निकट सहयोग से कार्यान्वित की जाएगी। इसे कागज उद्योग जगत में क्रांति लाने के लिए एक अनोखी पहल माना जा रहा है।

Advertisements

इस परियोजना को समझने एवं उसका लाभर्जन करने देश के कागज उद्योग जगत के बड़े नाम जैसे सेंचुरी पुलप एंड पेपर, ग्रसिम, जे के पेपर, रुचिरा पेपर्स , क्वांटम पेपर, तमिल नाड़ु पेपर्स लिमिटेड आदि यश पैका लिमिटेड, दर्शन नगर के उद्योग परिसर में शामिल हुए। यूनिडो के तकनीकी विशेषज्ञ डॉ अर के जैन, सेंट्रल पल्प एंड पेपर रिसर्च इंस्टिट्यूट के निदेशक डॉ एम के गुप्ता तथा यश पैका के ऑपरेशन head थॉमस जेम्स ने सभी कागज उद्योगों को इस ब्लैक लिकर हीट ट्रीटमेंट तकनीक का लाइव प्रदर्शन किया एवं इससे होने वाले लाभ कि पुष्टि की।

डॉ अर के जैन ने संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन की ओर से कागज के उद्योग से आये सभी प्रतिनिधियों को इस तकनीक पर विस्तृत प्रशिक्षण दिया और इस तकनीक को देश भर के सभी कागज उद्योगों को क्रियान्वित करने का यश पैका के मंच से किया। सी पी पी अर आई के निदेशक डॉ गुप्ता और वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ ए के दीक्षित ने यश पैका में किये गए LHT टेक्नोलॉजी के सफल पाइलट परिक्षणों के परिणामों को साझा किया और UNIDO पेपर प्रोजेक्ट के तहत किये गए महत्वपूर्ण हस्तक्षपो पर जोर दिया।

इसे भी पढ़े  अवध विवि के छात्रों ने प्रभु श्रीराम के सूर्य अभिषेक की तर्ज पर बनाया मॉडल

यश पैका लिमिटेड के एम डी जगदीप हीरा ने पाइलट प्रोजेक्ट के सफल होने पर सभी को बधाई दी और इसे कागज उद्योग में क्रांति लाने योग्य तकनीक बताया। लायसन हेड गौतम घोष ने बताया कि इससे पेपर मिलें अपने ऊर्जा उत्पादन को और बेहतर कर पाएंगी और कागज बनाने की विधि में इस्तेमाल किये जाने वाले रसयानों का और बेहतर निष्कर्षण कर पाएंगे।

कार्यक्रम के दौरान यश पैका के ऑपरेशन हेड थॉमस जेम्स, रसायन एवं ऊर्जा प्रमुख प्रशांत सिन्हा, इंजीनियरिंग हेड नरेंद्र अग्रवाल, कमर्शियल हेड मनोज मौर्या, लाइसन हेड गौतम घोष, एनवायरनमेंट हेड शशि वर्मा, पल्प हेड धर्मवीर शर्मा, रिसर्च एंड डेवलपमेंट हेड मीनू जोशी, 20 अन्य कागज उद्योग के प्रतिनिधि एवं अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.