‘सोशल मीडियाः वरदान या अभिशाप’ विषय पर होगी वाद-विवाद प्रतियोगिता

8 को अवध विवि आवासीय परिसर व 9 को महाविद्यालयों के छात्र-छात्राएं करेंगे प्रतिभाग

फैजाबाद। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में स्व0 हेमवन्ती नन्दन बहुगुणा के जन्म शताब्दी वर्ष 25 अप्रैल 2018 से 25 अप्रैल 2019 तक तक मनाये जाने वाले कार्यक्रम के तहत विश्वविद्यालय वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजन किया जा रहा है। इसका आयोजन आल इण्डिया हेमवन्ती नन्दन बहुगुणा स्मृति समिति, लखनऊ कर रही है। इस प्रतियोगिता का विषय ‘सोशल मीडियाः वरदान या अभिशाप’ है। इसी क्रम में विश्वविद्यालय एवं प्रदेश स्तर पर एक अन्र्तविश्वविद्यालयी वाद-विवाद प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड के लगभग 30 विश्वविद्यालय प्रतिभाग कर रहे हैं। प्रदेश स्तरीय इस प्रतियोगिता के समन्वयक कुलपति आचार्य मनोज दीक्षित होंगे।
विश्वविद्यालय परिसर के आई0ई0टी परिसर में आयोजित इस प्रतियोगिता का आयोजन 8 सितम्बर को समस्त विभाग आवासीय परिसर एवं 9 सितम्बर को विश्वविद्यालय से सम्बद्व महाविद्यालय स्तर के छात्र-छात्राएं प्रतिभाग करेंगे। इस प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए पक्ष एवं विपक्ष हेतु दो-दो विजयी प्रतिभागियों को चयनित किया जायेगा तथा एक प्रतिभागी को अन्र्तविश्वविद्यालयी प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागी को अपना पक्ष प्रस्तुत करने के लिए 4$1 मिनट का समय दिया जायेगा।
विश्वविद्यालय स्तर पर विजयी प्रतिभागी 18 सितम्बर को लखनऊ में आयोजित अन्र्तविश्वविद्यालयी प्रतियोगिता में भाग लेंगे। 19 सितम्बर को होने वाले समापन समारोह में प्रतियोगिता के विजयी प्रतिभागी को पुरस्कृत किया जायेगा। उक्त समारोह में मुख्य अतिथि केन्द्रीय कानून एवं सूचना प्रौद्यगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद होंगे। इसका आयोजन सी0एम0एस0 आडीटोरियम गोमती नगर लखनऊ में किया जायेगा। पुरस्कार के क्रम में प्रथम पुरस्कार धनराशि 51,000, द्वितीय पुरस्कार 31,000, तृतीय पुरस्कार 21,000 एवं सान्तवनां पुरस्कार 11,000 दिया जायेगा। विश्वविद्यालय स्तर पर कार्यक्रम हेतु प्रो0 फारूख जमाल एवं डाॅ0 विनोद कुमार चैधरी, पर्यावरण विज्ञान विभाग को उप समन्वयक बनाया गया है। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए मोबाइल नं0 9415785288, 9415718887 पर सम्पर्क कर सकते है।

इसे भी पढ़े  अयोध्या का विकास सपा सरकार की देन : तेजनारायण

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More