in

पशुशाला नही होनी चाहिये असुरक्षित : डॉ. अनिल कुमार

पशुशाला की व्यवस्था को लेकर सख्त हुए डीएम

अयोध्या। पशुशाला की व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार हुये सख्त। उन्होनें सभी खण्ड विकास अधिकारियों को सर्वोच्च प्राथमिकता पर सभी कार्यो को तत्काल पूरा कराने के दिये निर्देश। उन्होनें सभी बीडीओ से कहा कि कोई पशुशाला असुरक्षित नही होनी चाहिये, सभी पशुशालाओं में पर्याप्त ऊचांई की मिट्टी की खांई व खंधक, एंगल पर वायकेटिंग, पर्याप्त मात्रा में जानवरों के पीने के लिये पानी, समरसेबुल के लिये बिजली, चारा व शेड की हो व्यवस्था। उन्होनें कहा कि जो व्यवस्था नही करा सकते हैं वे तत्काल मीटिंग मे ही बता दें।
जिलाधिकारी ने सभी पशुशालाओं के गेट को पूर्ण रूप से रात्रि में ताले से बन्द रखने के निर्देश दिये, उन्होनें कहा कि रात्रि में न कोई पशु की इन्ट्री होगी और न ही कोई पशु बाहर जायेगा। उन्होनें गेट के दिवार पर पेंट से तैनात सुरक्षा/सेवाकर्मी, खण्ड विकास अधिकारी, सम्बद्ध पशु चिकित्सक व मोबाइल नम्बर के साथ यह भी लिखवायें कि पशुशाला केवल और केवल आवारां व छुट्टा जानवरो के लिये है इसमें पालतू जानवरों को रखा जाना पर पूर्ण प्रतिबन्धित है यदि कोई दबाव बनाकर पशु रखता है तो सम्बन्धित के खिलाफ प्रथम सूचना रिर्पोट दर्ज कराने के दण्ड के साथ जुर्माना वसूल किया जायेगा। मीटिंग में रूदौली तहसील के ग्राम पंचायत रेछ में पशुओं के टीकाकरण के समय बनाये गये पशु रजिस्टर के अनुसार सर्वे कराने का आदेश जिलाधिकारी ने दिये कि किस पशुपालक के पास टीकाकरण के समय कितने जानवर थे और अब कितने है और यदि पशुपालक के यहां सख्या कम हुई है तो कहां गये है। मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनन्द ने कहा कि सभी बीडीओ को हर ग्रामों में डुग्गी मुनादी कराये कि पशुशाला में केवल आवरां एवं छुट्टे जानवरों के लिये है पालतू जानवरों के पशुपालक के जानवर यदि गौशाला में पाये जाते तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी। आवश्यकता हो तो इस हेतु हर अपर जिलाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में धारा-144 लागू करा सकते है। बैठक में सभी बीडीओ ने पशुशाला में प्रकाश व्यवस्था की आवश्यकता बताई तो जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियन्ता विद्य़ुत को नियमानुसार विद्युत कनेक्शन लगवाने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि इस सन्दर्भ में वे आज वीडियों कान्फ्रेन्स में बात रखेगें तथा विद्युत कनेक्शन के साथ सौर ऊर्जा से संचालित विद्युत व्यवस्था भी कराने का निवेदन करेगें। जिलाधिकारी ने हर पशुशालाओं में पशुओं के इलाज हेतु कैटिल क्रस (अड़गणा) बनवाने हेतु जिला पंचायत परिषद के अधिशाषी अधिकारी को निर्देश देते हुये कहा कि दो दिन के अन्दर उक्त व्यवस्था करा दें ताकि बीमार पशुओं का प्रापर इलाज शुरू हो जाये। उन्होनें कहा कि विकास खण्डों मे तैनात पशु डॉक्टर को प्रतिदिन पशुशाला में जाकर पशुआें को देखेगें तथा बीमार पशुआें का इलाज करेगें। उन्होनें मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को पर्याप्त मात्रा में पशुओं की दवाओं व वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये यदि कोई पशु गम्भीर रूप से बीमार है तो आप लोग डा0 नरेन्द्र देव कृषि विश्वविद्यालय के पशुपालन विभाग से भी मदद ले सकते है। बैठक में परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण ए0के0 मिश्र, जनपद के सभी उपजिलाधिकारी, तहसीदार, नायब तहसीलदार, खण्ड विकास अधिकारी, विकास विभाग के अधिकारी सहित पशुपालन, विद्युत तथा कार्यदायी संस्थाओं के प्रभारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  मिल्कीपुर उपचुनाव को लेकर बढ़ने लगा राजनीतिक तापमान

बैठक में तमसा नदी पर हुई चर्चा

अयोध्या। जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने स्पष्ट रूप से कहा कि जिन ब्लाकों में तमसा नदी के किनारे पडने वाली ग्राम पंचायतों मे मनरेगा से काम नही हो रहा है वहां तुरन्त कार्य शुरू करायें कार्य में शिथिलता बिल्कुल बर्दाश्त नही होगी। वहां के ग्राम प्रधान को स्पष्ट निर्देश दे दें कि यह कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के रूप से तथा अधिक से अधिक मानव दिवस सृजन कर लोगो को रोजगार दें। तमसा नदी के जीर्णोद्धार के तहत खुदाई के जो मिट्टी निकल रही है उसे लू-लैण्ड वाले सार्वजनिक भूमि, चकमार्ग, स्कूल व खेल के मैदान, खलिहान सार्वजनिक रास्ते पर मनरेगा से पटवायें अन्यथा नदी की जो खुदाई हो रही है वह बरसात मे पुनः पट जायेगी और कार्य के साथ-साथ धन भी बरबाद होगा।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

गुरुकुल व्यवस्था भारतीय संस्कृति एवं शिक्षा की धरोहर

अपमिश्रित कच्ची शराब का जखीरा बरामद