The news is by your side.

महिला दिवस पर आकाशवाणी में हुई संगोष्ठी

नारी सशक्तिकरण : समान सोचे, स्मार्ट बने, बदलाव के लिए नया करें विषय पर वक्ताओं ने रखे विचार

अयोध्या। आकाशवाणी फै़ज़ाबाद में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आमन्त्रित श्रोताओं के समक्ष एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का विषय था। “नारी सशक्तिकरण : समान सोचे, स्मार्ट बने, बदलाव के लिए नया करें“
कार्यक्रम प्रमुख योगेन्द्र प्रसाद ने सभी अतिथियों को पुश्प गुच्छ देकर स्वागत किया एवं कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में बताया। संगोश्ठी का शुभारम्भ मनूचा डिग्री कालेज की हिन्दी विभाग की प्रोफेसर डॉ. सुधा राय ने किया। पौराणिक काल से आज तक के सशक्त महिलाओं की चर्चा करते हुए इन्होनें कहा कि आज हम उनके आदर्शो पर चले और उनसे प्रेरणा लेकर निर्भीक होकर एवं अपना आत्मविश्वास बनाकर महिलायें प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ सकती है। चर्चा को आगे बढ़ाते हुए साहित्यकार एवं कवियत्री श्रीमती निरूपमा श्रीवास्तव ने महिला सषक्तीकरण पर अपनी कुछ रचनायें भी प्रस्तुत की। इसी क्रम में पारिवारिक न्यायालय की सदस्या डा़ मृदुला राय ने वर्तमान में महिलाओं की दषा एवं दिषा पर विस्तार से प्रकाष डाला। उन्होनें समाजिक कुरीतियों जैसे महिला यौन उत्पीड़न, बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या जैसे महत्वपूर्ण विशयों पर अपने सुझाव प्रस्तुत कियें। चर्चा को और आगे बढ़ाते हुए राज्य शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित डॉ. ऋतु जम़ाल ने समाज में महिलाओं के प्रति भेदभाव, जन्म से बेटा और बेटी में भेदभाव, बच्चों के अभिभावकों के साथ अपने कटु अनुभव एवं बेटियों के लिए सरकार द्वारा चलायी जा रही नई नई योजनाओं की जानकारी दी। इस अवसर पर आकाषवाणी फैजाबाद के उपनिदेषक (अभियान्त्रिकी) श्री बी0आर. पटेल ने भी अपने विचार रखें। कार्यक्रम का संचालन किया प्रसारण निश्पादक श्रीमती सरस्वती पाठक ने। कार्यक्रम में आकाशवाणी के समनुदेशिती उद्घोषक/कम्पीयर विषेशकर नारीशक्ति ने सक्रिय रूप से भाग लिया। कार्यक्रम प्रमुख योगेन्द्र प्रसाद ने सभी लोगो को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.