The news is by your side.

रेडियो किसान दिवस का हुआ आयोजन

आकाशवाणी फै़ज़ाबाद व इफ्को अयोध्या के संयुक्त तत्वाधान में हुआ आयोजन

प्रगतिशील किसानों को जैविक खाद का पैकेट देकर किया गया सम्मानित

अयोध्या। आकाशवाणी फै़ज़ाबाद व इफ्को अयोध्या के संयुक्त तत्वाधान ग्राम बांसगांव विकासखण्ड अमानीगंज जनपद अयोध्या में रेडियो किसान दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्जवलन से हुआ। मुख्य अतिथि नरेन्द्र देव कृशि एवं प्रौद्योगिकी विष्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या के कुलपति प्रोफेसर जे0एस0 सन्धू एवं मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनन्द व आकाशवाणी फैजाबाद के कार्यक्रम प्रमुख योगन्द्र प्रसाद ने दीप प्रज्जवलन किया। अतिथियों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम प्रमुख ने रेडियो किसान दिवस के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर प्रथम सत्र में एक परिचर्चा का भी आयोजन किया गया जिसका विषय था किसानों की आय दोगुना करने के उपाय। परिचर्चा में भाग लिया-उपनिदेशक कृषि रक्षा, अयोध्या, डॉ. हरेन्द्र कुमार उपाध्याय, उपनिदेश उद्यान वाहिद अली, अपर निदेशक प्रसार, डॉ. रामरतन सिंह, डॉ. अनिल कुमार राय, समाज वैज्ञानिक डॉ. आभा सिंह एवं किसान राकेश दूबे, राजेन्द्र वर्मा, उमानाथ शुक्ला ने।
द्वितीय सत्र में अयोध्या के मुख्य विकास अधिकारी अभिद्योक आनन्द ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के बारे में जानकारी एवं किसानों के प्रश्नों के उत्तर भी दिये। इसके बाद निदेशक प्रसार डॉ. ए0पी0राव ने भी जानकारी दी। मुख्य अतिथि माननीय कुलपति प्रो. जे.एस. सन्धू ने किसानों की आय दोगुना करने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।
इसी बीच प्रगतिशील किसानों को नरेन्द्रदेव कृषि विश्वविद्यालय द्वारा अंगवस्त्र व फलदार पौध एवं इफ्को अयोध्या द्वारा प्रगतिशील किसानों को जैविक खाद का पैकेट देकर सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम को रोचक बनाने के लिए आकाशवाणी के कलाकार शशिकान्त मिश्रा एवं साथियों द्वारा लोकगीत का प्रस्तुति भी गयी। इस अवसर पर क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति, क्षेत्र के किसान एवं कृशि विज्ञान केन्द्र अम्बेड़कर तथा कृशि विज्ञान केन्द्र अयोध्या के वैज्ञानिक भी उपस्थित थे। कार्यक्रम के समापन पर धन्यवाद ज्ञापन इफ्को के एरिया मैनेजर अवनेश कुमार सिंह ने किया। कार्यक्रम का संचालन प्रगतियाल किसान उमानाथ शुक्ला द्वारा किया गया।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.