क्रान्ति वीरों का इतिहास पाठ्य पुस्तकों में किया जाय शामिल: अशोक

 

 सजपा ने की युवा संवाद बैठक

फैजाबाद। 1857 के क्रान्ति वीरों व शहीदों का इतिहास पाठ्य पुस्तकों में शामिल किया जाय जिससे नई पीढ़ी उनसे प्रेरणा लेकर नई क्रान्ति के लिए एकजुट हो सके। यह विचार पार्टी के बल्लाहाता स्थित कैम्प कार्यालय में आयाजित युवा संवाद अभियान बैठक को सम्बोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव ने व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि देश 1857 के क्रान्ति दिवस का वर्ष मना रहा है परन्तु सरकार इस बात के लिए गम्भीर नहीं है कि  नई  पीढ़ी खासकर छात्र-छात्राएं देश के बलिदानियों के इतिहास से  परिचित हों जिनके कारण आज भारत ब्रितानी हुुकूमत की गुलामी से आजाद हुआ है। उन्होंने कहा कि 1857 की आजादी के पहले संघर्ष में बहादुर शाह जफर, बेगम हजरत महल, रानी लक्ष्मी बाई, तात्या टोपे,  नानाजी पेशवा, मौलाना अहमद उल्ला शाह, राजा जयलाल, राजा देवी बक्श, कुंवर सिंह, राजा बेनी माधव आदि का अमूल्य योगदान रहा है जिसके कारण उन्हें सदियों तक याद किया जाता रहेगा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र और प्रदेश की सरकार किसान और युवाओं की समस्याओं को नजरंदाज किये हुए है सरकार कानून व्यवस्था की स्थिति पर पूरी तरह विफल साबित हुई है ऐसी जन विरोधी सरकार के खिलाफ एकजुट होकर उसे 2019 में उंखाड़ फेंकना होगा इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए युवाओं को लामबंद करना होगा। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण है कि केन्द्र की चार साल और प्रदेश की डेढ़ साल की भाजपा सरकार में किसान और युवा आत्महत्या करने के लिए मजदूर हो रहे हैं किसानों की आर्थिक स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है युवा सरकार की पूंजीवादी गलत आर्थिक  नीतियों के कारण बेरोजगारी का दंश झेल रहे हैं जिससे निराश होकर वह आत्महत्या कर रहे हैं। तमाम युवा बेरोजगारी के कारण अपराध और आतंकवादी गतिविधियों में भी लिप्त हो रहे हैं दूसरी ओर भाजपा सरकारें अपनी विफलताओं पर पर्दा डालने के लिए साम्प्रदायिक धु्रवीकरण और झूंठे विकास कार्यों का प्रचार प्रसार करके जनता को भ्रमित करने का प्रयास कर रही है। बैठक को पार्टी के जिलाध्यक्ष शिव प्रकाश यादव, युवा संवाद अभियान संयोजक सौरभ अग्रवाल, जहीर हसन, जितेन्द्र गौड, मुकेश यादव, मुन्ना भाई, बृजमोहन सिंह, महर्षि वेद प्रकाश आदि ने सम्बोधित किया।

इसे भी पढ़े  धूमधाम से पंजाबी समुदाय ने मनाया लोहड़ी पर्व

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More