The news is by your side.

अपने ही बिछाये जाल में फंस गया रामचन्दर

रंगदारी मांगने का खुलासा, षडयंत्रकर्ता सहित पांच गिरफ्तार

अयोध्या। डाक्टर बनौधा से 25 लाख रंगदारी मांगने के मामले में षडयंत्रकर्ता जिला पंचायत सदस्य पति खुद फंस गया। पुलिस ने प्रकरण का खुलासा करते हुए जिला पंचायत सदस्य पति सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर जेल की राह दिखा दिया।
पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता मे प्रकरण का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि प्रतिष्ठित चिकित्सक डाक्टर बनौधा से 25 लाख रूपये की रंगदारी मांगी गयी थी इस सम्बन्ध में पुलिस में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। मुकदमा पंजीकृत होने के बाद पुलिस ने अपराधियों की तलाश में छानबीन शुरू की तो पता चला कि इसी तरह का एक मामला जिला पंचायत सदस्य पति रामचन्दर पुत्र बिरजू पुत्र बृजलाल निवासी आवास विकास कालोनी अमानीगंज ने भी दर्ज कराया है। रंगदारी मांगने के लिए जिस सिम का इस्तेमाल किया गया वह भदरसा निवासी अब्दुल हक का था जिसे 6 जनवरी को लूटा गया था। लूट के घटना स्थल के आसपास लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाले गये और लूट में प्रयुक्त बाइक व लुटेरों की शिनाख्त की गयी तो मामले से पर्दा उठने लगा। उन्होंने बताया कि 15 जनवरी को पुलिस टीम ने शिव मोहन पाण्डेय उर्फ गोलू पुत्र स्व. रमेश निवासी पाण्डेय का पुरवा सनेथू थाना पूराकलन्दर, अभय पाण्डेय पुत्र सुधाकर पाण्डेय निवासी इटौरा थाना पूराकलन्दर, वेदान्त पाण्डेय पुत्र रमेश पाण्डेय निवासी गंगौली, शिवब्रत पुत्र राजितराम निवासी मूसे पाण्डेय का पुरवा सनेथू को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त बाइक पलसर यूपी 42 ए.आर. 9694 और अब्दुल हक का मोबाइल लुटेरों से बरामद किया गया। पूंछतांछ के बाद लुटेरों ने बताया कि सिम शिवब्रत कोरी के पास है। शिवब्रत के पास से सिम बरामद किया गया है।
पूंछताछ के बाद शिवब्रत कोरी ने बताया कि जिला पंचायत सदस्य पति राम चन्दर गौतम ने उससे कहा था कि मै तुम्हे एक लाख दूंगा मुझे अपने दुश्मन अभिन सिंह आदि को पुनः जेल भेजवाना है। शिवब्रत ने यह भी बताया कि राम चन्दर गौतम ने उससे कहा कि वह अभिनव सिंह आदि का नाम लेते हुए शहर के किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति से रंगदारी मांगो ताकि प्रकरण गम्भीर हो जाय और पुलिस खोजबीन शुरू कर दे और साथ ही मुझे भी उन लोगों का नाम लेते हुए धमकी दे देना ताकि साफ हो जाय कि रंगदारी मांगने और धमकी देने वाले अभिनव सिंह व उनके गैंग सदस्य हैं। शिवब्रत ने बताया कि वह अपने मित्र गोलू पाण्डेय जो लूट और छिनैती करता रहा है से एक सिम लिया व ऐमी आलापुर बाजार की एक दूकान से नया चाइनीज मोबाइल खरीदा अपने घर से 10-12 किमी दूर जाकर राम चन्दर गौतम कहे अनुसार ऐमी पुलिस से डा. बनौधा से 25 लाख रूपये की रंगदारी मांगा और उसी फोन से राम चन्दर के कहे अनुसार जो उन्होंने समझाया था वह कहा। इसके बाद सिम को निकालकर जेब में रख लिया और मोबाइल तोड़कर पुल के नीचे फेंक दिया। सिम इसलिए रखा था ताकि जरूरत पड़ी तो दूसरा चाइनीज फोने लकर दोबारा धमकी दी जा सके। एसएसपी ने बताया कि चूंकि शिवब्रत के पास डा. बनौधा का विजटिंग कार्ड था इसलिए उसने उसपर अंकित फोन पर धमकी दिया। अभियुक्तों के पास से 315 बोर का एक कट्टा व एक कारतूस भी बरामद किया गया। उन्होंने बताया कि इस गैंग के अपराध करने का तरीका पुराना था जिसके तहत यह लोग फोन से धमकी देकर फिरौती मांगते थें उन्होंने बताया कि अभिनव सिंह का इस प्रकरण से कोई लेना देना नहीं है वह बीते दिनों ही जेल से छूटकर आया है। उन्होंने बताया कि अभियुक्त रामचन्दर गौतम हिस्ट्रीशीटर है और उसके विरूद्ध कोतवाली नगर अयोध्या कैंट अयोध्या, कोतवाली अयोध्या, थाना महाराजगंज, कोतवाली नगर, महिला थाना में 22 मुकदमें पंजीकृत हैं। इसी तरह शिवब्रत के विरूद्ध तीन, अभय पाण्डेय के विरूद्ध एक, वेदांत पाण्डेय के विरूद्ध एक व शिव मोहन पाण्डेय के विरूद्ध भी दो मुकदमें पंजीकृत हैं उन्होंने बताया कि प्रकरण का खुलासा करने वाले पुलिस दल को 25 हजार रूपये नकद पुरस्कार दिया जा रहा है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.