in ,

उच्च शिक्षा में 13 प्वाइंट रोस्टर के विरोध में किया प्रदर्शन

प्रदर्शन कारियों ने जमकर की नारेबाजी, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन

कहा- दलितों व पिछड़ों का अपमान कर रही भाजपा

उच्च शिक्षा में 13 प्वाइन्ट रोस्टर के विरोध में प्रदर्शन

अयोध्या। उच्च शिक्षा में आरक्षण समाप्त करने के विरोध में सपा व बसपा के नेताओं ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया। संविधान विरोधी 13 प्वाइन्ट रोस्टर (उच्च शिक्षा में आरक्षण समाप्त) के विरोध में गुलाबबाड़ी से लेकर शहर की प्रमुख सड़कों रीडगंज, जमुनियाबाग, चौक, रिकाबगंज, सिविल लाइन होते हुए तहसील स्थित अमर शहीद हेमू कालाणी के पार्क पर पहुॅंचा। जहॉं पर धरना हुआ और अतिरिक्त मजिस्ट्रेट ज्योति सिंह को राष्ट्रपति व प्रदेश के राज्यपाल के नाम सम्बोधित पॉंच सूत्रीय मॉंग पत्र/ज्ञापन सौंपा गया। प्रदर्शन व धरने की अगुवाई आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुनील बौद्ध ने की। प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने हाथों में तख्तियाँ लेकर व सिर पर लाल-नीली रंग की टोपी पहनकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर गुलाबबाड़ी में सभा को सम्बोधित करते हुए पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने कहा कि देश की भाजपा सरकार दलितों व पिछड़ों का अपमान कर रही है। उन्होंने कहा कि दलित व पिछड़ों के स्वाभिमान, हक, अधिकार और अपने संविधान में 200 प्वाइन्ट रोस्टर को बचाने के लिये बड़ा आन्दोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार उच्च शिक्षा में आरक्षण पूरी तरह से एक साजिश के तहत समाप्त करना चाहती है जिसका पुरजोर विरोध किया जायेगा। बहुजन छात्रसभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय आजाद ने कहा कि यदि उच्च शिक्षा में छात्रों को शिक्षक बनने से रोका गया तो हक वंचित समाज के युवा उसका मुँहतोड़ जवाब देंगे। प्रदर्शन व धरने की अगुवाई कर रहे आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुनील बौद्ध ने कहा कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती के लिये अनुसूचित जाति/जनजाति व पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये केन्द्र व राज्य सरकार को इसी बजट सत्र में 13 प्वाइन्ट रोस्टर अध्यादेश वापस करने तथा 200 प्वाइन्ट रोस्टर प्रणाली लागू करने का विधेयक पारित करायें। समाजवादी अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ओरौनी प्रसाद पासवान ने कहा कि संविधान व आरक्षण विरोधी 13 प्वाइन्ट रोस्टर को अध्यादेश लाकर तत्काल समाप्त करते हुए अब तक चली आ रही 200 प्वाइन्ट रोस्टर प्रणाली को लागू किया जाय अन्यथा सड़कों पर उतरकर चक्का जाम कर दिया जायेगा। धरना प्रदर्शन में मुख्य रूप से जगदीश बौद्ध, अशोक वर्मा, देवेश कुमार, सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी, रवि प्रकाश मौर्य, एस0के0 रावत, पूर्व ब्लाक प्रमुख राम अचल यादव, अजय रावत, सौरभ सिंह यादव, विनय मौर्य मोनू, सुनील रावत, मंजीत यादव, राहुल चौधरी, चन्दन कोरी, शमशेर यादव, प्रमोद चौधरी, अनुभव रावत, दीनानाथ पासी, राजकमल, गौरव सागर, डा0 के0पी0 चौधरी, कुलदीप गौतम, इमरान हासमी, एडवोकेट ओ0पी0 राव, सूर्यभान आजाद, मीरा देवी, प्रदीप भारती, राजन रावत, धर्मेन्द्र रावत, गजराज पासी, संजय चौधरी आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

मोदी-योगी सरकार का बजट हवा-हवाई : तेजनारायण पाण्डेय

मजदूर महासंसद में भाजपा सरकार को उंखाड फेंकने का आवाहन