The news is by your side.

बेरोजगारी के संकट को गहरा कर रही वैश्वीकरण की नई आर्थिक नीतियां : जनवादी

जनवादी नौजवान सभा का 17वां राज्य सम्मेलन 19 व 20 को

अयोध्या। भारत की जनवादी नौजवान सभा जिलाकमेटी की समीक्षा बैठक आज 11 बजे से जिलाध्यक्ष कामरेड धीरज द्विवेदी की अध्यक्षता व जिलासचिव कामरेड शेरबहादुर शेर के संचालन में हुई।बैठक में मुख्यरुप से राज्यसम्मेलन को सफल बनाने व अब तक समीक्षा पर चर्चा की गई।बैठक में प्रदेश सचिव कामरेड राधेश्याम वर्मा व प्रदेश उपाध्यक्ष कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी मौजूद रहे।
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश सचिव कामरेड राधेश्याम वर्मा ने कहा कि“नफ़रत व हिंसा की राजनीति को शिकस्त दो-शिक्षा, रोजगार व सामाजिक न्याय के लिए आगे बढ़ो“नारे के साथ भारत की जनवादी नौजवान सभा का 17वां उत्तर प्रदेश राज्य सम्मेलन आगामी 19-20 दिसम्बर को प्रेस क्लब,फैज़ाबाद में संपन्न होगा।यह सम्मेलन काकोरी कांड के शहीदों को याद करते हुए उनके द्वारा सौपी गई साझी शहादत-साझी विरासत की परम्परा को आगे बढ़ाने में अपनी महती भूमिका अदा करेगा।यह सम्मेलन ऐसे दौर में हो रहा है जब केंद्र व प्रदेश सरकार नौजवानों को रोजगार देने के किये गए वादे से पीछे हटी है।प्रतिवर्ष 2 करोड़ नौजवानों को रोजगार देने के अपने वादा पर सरकार खरी नही उतरी है।रोजगार सृजित करने वाले सभी प्रमुख क्षेत्रों-यातायात, विनिर्माण, होटल मैनेजमेंट, कंस्ट्रक्शन, सेवा आदि सभी में ठहराव की स्थिति है।सरकार के नोटबंदी जैसे अदूरदर्शी फैसले ने नौजवानों के रोजगार छीने हैं।प्रधानमंत्री रोजगार के नाम पर नौजवानों को पकौड़ा तलने की सलाह देते है।श्रम व औद्योगिक कानूनों में परिवर्तन कर स्थायी व संविदा की रोजगार पर रोक लगा दी गयी। प्रदेश उपाध्यक्ष कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी ने कहा कि हमारे प्रदेश में अपने चुनावी घोषणापत्र में भाजपा ने प्रतिवर्ष 14 लाख युवाओं को रोजगार देने की बात की थी, लेकिन सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री जी कहते हैं कि ’प्रदेश में योग्य युवा हैं ही नही’।प्रदेश सरकार ने मितव्ययता के नाम पर स्वास्थ्य व पुलिस विभाग को छोड़कर अन्य विभागों की भर्तियों पर रोक लगाने का मन बनाया है।शिक्षा व पुलिस विभाग में जो कुछ भर्तियां निकाली गई उनमें भी अपारदर्शिता बनी हुई है और उनकी दांवपेंच में फंसी हुई है।सरकारों द्वारा अपनायी जाने वाली निजीकरण-उदारीकरण व वैश्वीकरण की नई आर्थिक नीतियां बेरोजगारी के संकट को और भी गहरा कर रही हैं।
जिलासचिव कामरेड शेर बहादुर शेर ने कहा कि यह सम्मेलन रोजगार पर बढ़ रहे नये किस्म के हमलों व बेरोजगारी के खिलाफ़ नौजवानों को संगठित करने व आंदोलन करने की प्रेणना व दिशा प्रदान करेगा।जिला अध्यक्ष कामरेड धीरज द्विवेदी ने कहा कि सम्मेलन को सफल बनाने के लिए पूरे शहर में भित्त लेखन, पर्चा वितरण, पोस्टर चिपकाने का काम जोर-शोर से चल रहा है।विभिन्न इकाईयों में बैठकें की जा रही है।गत वर्षों की भांति काकोरी कांड के शहीदों को याद करने के लिए शहादत दिवस समारोह का भी आयोजन किया जा रहा है।इस समारोह में जनसभा व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित की जायेंगी।शहीदों को याद करते हुए गुलाबबाड़ी से जेल तक ’युवा मार्च’ निकालकर शहीद अशफ़ाक़ उल्लाखां को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी।अमर शहीदों की याद में यह सम्मेलन शहीद अशफ़ाक़ उल्लाखां-रामप्रसाद बिस्मिल नगर व काकोरी कांड शहीद सभागार में संपन्न होगा।
प्रेस वार्ता के दौरान संगठन के जिला अध्यक्ष धीरज द्विवेदी, जिला मंत्री शेर बहादुर ’शेर’,सुनील सिंह, मुज्जमिल, रामजी तिवारी ,जिला उपाध्यक्ष कामरेड शिवधर द्विवेदी,भानू कश्यप,रेशमाबानो,आदि मौजूद रहे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.