मलकनिया धाम हनुमान मंदिर पहुंचे 84 कोसी परिक्रमार्थी

0

स्थानीय लोगों ने किया परिक्रमा में शामिल संतो महंतो का स्वागत

रूदौली। साधु संतों की श्री अयोध्या धाम 84 कोसी परिक्रमा यात्रा मंगलवार की सुबह महंत गया दास महाराज की अगुवाई में मलकनिया धाम हनुमान मंदिर पहुंची जहां श्री राम विवाह महोत्सव समिति के अध्यक्ष शिव कुमार कसौधन की अगुवाई में शामिल बड़ी संख्या में लोगों ने भव्य स्वागत किया। मंगलवार की सुबह 5:00 बजे अमानीगंज बाजार से यह यात्रा  जैसे पूर्व ब्लाक प्रमुख के भट्ठे पहुंची तो वहां भव्य स्वागत किया गया इसके बाद ललुवापुर में जगदीश प्रसाद एवं राजकिशोर ने फिर परसौली मोड़ पर राम दुलारे विश्वकर्मा पूरेमलिक में स्वर्गीय मेडीलाल के पुत्रों ने उसके बाद नयागंज चौराहे पर शिवकुमार कसौधन सुरेश कसौधन बालक राम मलकनिया  धाम मंदिर परिसर में राम गोपाल निषाद एवं सभासद उमाशंकर कसौधन वरिष्ठ पत्रकार रवि प्रकाश गुप्ता अजय गुप्ता  राजेश मिश्रा प्रेम प्रकाश गुप्ता जितेंद्र यादव नीरज  राजेश अग्रवाल ने सभी साधु संतों का भव्य स्वागत किया और जलपान की व्यवस्था उपलब्ध कराई।   मलकनिया धाम मंदिर परिसर  पर व उसके आसपास के खेतों बागों में बड़ी संख्या में साधु-संतों ने अपना डेरा जमाया और कीर्तन भजन किया और त्यागी बाबाओं ने धूनी रमाई इस दौरान जलते हुए कंडो के बने हुए गोले में धूप में बैठकर सिर पर गगरी में आग रखकर  माला जपा इस दौरान यह किसी से कुछ बोलते नहीं थे जिसे देखने के लिए भक्तों का ताता लगा रहा। यात्रा के महंत गया दास महाराज ने बताया कि इस यात्रा में देश के विभिन्न राज्यों के साथ साथ नेपाल के करीब कुल मिलाकर 1200 सौ साधु संत शामिल रहे जिसमें 300 सौ गृहस्थ व  150 महिलाएं शामिल रही।  दोपहर में भोजन फलाहरी की व्यवस्था शिव कुमार कसौधन द्वारा कराई गई एवं लस्सी की व्यवस्था राम गोपाल निषाद के माध्यम से हुई और रात में पुनः भोजन शिवकुमार कसौधन  द्वारा की गई इसके अलावा अन्य भक्तों द्वारा अपनी श्रद्धा अनुसार साधु-संतों को जलपान कराया गया। शाम को बड़ी संख्या में स्त्री पुरुष एवं बच्चों ने पहुंचकर साधु संतों का दर्शन किया और आशीर्वाद प्राप्त किया तथा हनुमान मंदिर पर प्रसाद चढ़ाया।   इस यात्रा में शामिल आलियाबाद निवासी जय गुरुदेव संगत के महादेव प्रसाद ने अपनी पिक अप गाड़ी साथ लेकर चल रहे थे ताकि जो भी अस्वस्थ हो जाए अथवा चलने में दिक्कत हो तो उसे गाड़ी पर बिठा लेते थे।     इस यात्रा में शामिल मया बाजार के निवासी घनश्याम गुप्ता ने बताया कि रास्ते में तमाम स्थानों पर दिक्कतों का सामना करना पड़ा है जिसे सही कराया जाना चाहिए एवं रास्ते में कोई निशान अथवा झंडी लगाने की व्यवस्था होनी चाहिए ताकि असुविधाओं का सामना ना करना पड़े।  इस यात्रा में नागा जयराम दास महाराज दिगंबर अखाड़ा जिला धौलपुर राजस्थान खगड़िया बिहार के विधान चंद्र दास भी शामिल रहे इस बार मल कनिया धाम मंदिर पर प्रशासन की व्यवस्था बिल्कुल से नहीं थी मीडिया के लोगों के कहने पर दोपहर में 1:00 बजे मोबाइल शौचालय की व्यवस्था पालिका ने कराई और स्वास्थ्य विभाग का भी यही हाल रहा मात्र 2 कर्मचारी मात्र 30 मिनट के लिए और खानापूर्ति करके चले गए तथा पुलिस की व्यवस्था बिल्कुल से नहीं रही यहां तक कि एक सिपाही तक झांकने तक नहीं आया जिसके चलते साधु संत आक्रोशित  दिखे ।    84 कोसी परिक्रमा मार्ग बदले जाने के संबंध में जब मीडिया वालों ने महंत गया दास जी महाराज से पूछा तो वह बिफर पड़े और कहा कि जिस मार्ग से यात्रा सैकड़ों वर्षो से आती चली आ रही है उसी रास्ते से भविष्य में भी आएगी रास्ता बदलना पूरी तरह से अनुचित है जिसे साधु-संत कदापि बर्दाश्त नहीं करेंगे यदि इसके लिए आंदोलन चलाने की भी आवश्यकता पड़ेगी तो साधु संत इससे पीछे हटने वाले नहीं हैं उन्होंने यह भी कहा कि बदले हुए रास्ते से परिक्रमा करने का कोई मतलब नहीं रहेगा और इससे परिक्रमा *खंडित* हो जाएगी इसलिए इसी पुराने रास्ते से ही सड़क का निर्माण कराया जाए मलकनिया धाम मंदिर पर रात्रि विश्राम के बाद यह यात्रा बुधवार की सुबह  रौजागाँव आलियाबाद के रास्तों से होते हुए पटरंगा मंडी पहुंचेगी।   वहीं दूसरी ओर सोमवार की रात में हनुमान मंडल की 84 कोसी यात्रा नयागंज पहुंची जहां सभासद उमाशंकर कसौधन  विधायक रामचंद्र यादव ओमप्रकाश कसौधन गुलाबचंद कौशल नितिन आर्य  दीपू रामप्रकाश भीष्म नारायण उमानाथयज्ञसैनी आदि ने स्वागत किया रात्रि विश्राम के बाद यात्रा मंगलवार की सुबह यहां से रौजागांव पटरंगा के लिए रवाना हुई

इसे भी पढ़े  गणेश वंदना से हुआ अयोध्या की रामलीला का भव्य आगाज

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: