बढ़ती जनसंख्या समाज व देश के विकास में बाधक: डा. अनिल कुमार

जिलाधिकारी ने की जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा की समीक्षा

Advertisement

फैजाबाद। जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा की समीक्षा करते हुये कहा कि बढ़ती जनसंख्या न केवल समाज की दृष्टि से बल्कि देश के विकास के लिए भी बाधक है क्योंकि जिस गति से जनसंख्या बढ़ रही है उस गति से संसाधनो में स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार आदि का विकास हो पाना व्यवहारिक नहीं है। प्रतिवर्ष लगभग 1.75 करोड़ जनसंख्या बढ़ रही है, जिसका परिणाम है कि आज भारत की जनसंख्या 134 करोड़ हो चुकी है यदि इसी रफ्तार से जनसंख्या बढ़ती रही तो संयुक्त राष्ट्रसंघ के अनुसार 2025 तक देश की आबादी चीन से भी अधिक हो जायेगी। एक स्वस्थ राष्ट्र की परिकल्पना हम तभी कर सकते है जब आबादी स्वस्थ और संचलित हो। जिलाधिकारी ने बताया कि जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा के अन्तर्गत 25 जुलाई तक जनसंख्या नियन्त्रण पखवाड़ा का आयोजन किया जाना है। भारत सरकार द्वारा संचालित मिशन परिवार विकास योजना एक अभिनव कार्यक्रम है, जिसके द्वारा परिवार कल्याण की सेवाओं के सुदृढ़ीकरण, नवीन सांधनो की उपलब्धता एवं क्षतिपूर्ति राशि मंे वृद्धि की गयी है। जनसंख्या नियन्त्रण पखवाड़ा के अन्तर्गत आशा द्वारा लक्ष्य दम्पत्ति से सम्पर्क करते हुये लक्ष्य दम्पत्ति का पंजीकरण एवं उन्हें परिवार नियोजन के विभिन्न संसाधनों को अपनाने हेतु प्रेरित किया जाना है। मिशन परिवार विकास के तहत राष्ट्रीय परिवार नियोजन कार्यक्रमो में बच्चों में अन्तर रखने के तीन नये तरीके इंजेक्टेबल एमपीए (अंतरा), केवल प्रोजेक्ट्राॅन की गोलियां एवं सेन्टक्रोमान (छाया) शामिल किये गये है।
उन्होनें बताया कि मिशन परिवार विकास के तहत प्रमुख रणनीतियों में उपकेन्द्र स्तर तक इंजेक्टेबल गर्भनिरोधक एमपीए (अंतरा) को उपलब्ध कराना, पीपीआईयूसीडी सेवाएं सभी स्वास्थ्य इकाइयों तक उपलब्ध कराना, क्षतिपूर्ति योजना के माध्यम से नसबंदी सेवाओं में वृद्धि एवं विशेष स्थानों पर काॅन्डोम बाॅक्स (जैसे स्वास्थ्य केन्द्र और ग्राम पंचायत भवन) लगाया जाना तथा काॅन्डोम और गोलियां का सामाजिक विपणन, सरकारी योजना के अन्तर्गत सोशल मार्केटिंग आदि शामिल किये गये है।
उन्होनें बताया कि जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा के अन्तर्गत नई पहल किट के माध्यम से नवविवाहितों के लिए परिवार नियोजन किट जिसमें एक जूट का थैला, विवाह पंजीकरण फाॅर्म, काॅन्डोम का पैक, ईसीपी, ओसीपी, परिवार नियोजन की जानकारी वाला पर्चा, गर्भाधान परीक्षण किट, ग्रुमिंग किट, उपभोक्ता जानकारी कार्ड प्रदान किया जा रहा है।