दुर्लभ डाक टिकटों का एक ही टेबल पर संभव होगा अवलोकन : दुर्गापाल

अवधपेक्स में ऐतिहासिक महापुरुषों, नदियाँ वन्यजीवों की लगेगी डाक टिकट प्रदर्शनी

अयोध्या। मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर जे बी दुर्गापाल की अध्यक्षता में “अवधपेक्स -2019” डाक टिकट प्रदर्शनी के आयोजन के लिए अपने मण्डलीय कार्यालय में मातहत के साथ बैठक किया इस दौरान श्री दुर्गापाल ने बताया कि “अवधपेक्स -2019” डाक टिकट प्रदर्शनी में डाक टिकटों के माध्यम से ऐतिहासिक महापुरुषों, नदियाँ वन्यजीवों तथा विश्व के दुर्लभ डाक टिकटों को एक ही टेबल पर देखा जा सकेगा प्रदर्शनी में जहां प्रदेश के फिलेटलिस्ट का जमवाड़ा होगा वंही स्थानीय स्तर के भी फिलेटलिस्ट अपने संग्रह का प्रदर्शन करेंगे द्य प्रदर्शनी पुरानें डाक टिकटों पर महापुरुषों, क्रांतिकारियों ,नदियाँ, रास्ट्रीय महलों, वन्य जीव दृजन्तुवों के साथ साथ अन्य कई आकर्षक डाक टिकटों का प्रदर्शन किया जाना है जिसके माध्यम से आज नवयुवको की पीढ़ी अपने देश की मूल धरोहर ,संस्कार,एवं महापुरषों के बारें में जानने का अवसर मिलेगा और वही छात्रों को समान्य ज्ञान सीखने का मौका होगा द्य साथ ही यह भी बताया कि सम्पूर्ण भारत देश में वर्ष 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती मनाया जायेगा द्य साथ श्री दुर्गापाल ने बताया कि प्रदर्शनी के दौरान पत्र लेखन, स्टैम्प डिजाइन, पिक ए स्टैम्प तथा प्रश्नोत्तरी की खुली प्रतियोगिता आयोजित किया गया है। इसके लिए इच्छुक छात्र 3 जनवरी तक मण्डलीय कार्यालय में नाम दर्ज करा सकते है। छात्रों को अपने परिजनों के साथ प्रदर्शनी का आनन्द लेने के साथ साथ भारी मात्रा में जनता से प्रदर्शनी में पहुंचकर आयोजन को सफल बनाने की अपील की । इस दौरान सीनियर पोस्टमास्टर सुरेन्द्र ने बताया कि प्रदर्शनी के दौरान आधार अपडेशन, आईपीपीबी, डाक जीवन बीमा तथा सुकन्या समृधि का काउन्टर भी खोलकर आने वाले ग्राहकों को इसका लाभ दिया जायेगा द्य इस दौरान सहायक अधीक्षक ए.के. सिंह , परिवाद निरीक्षक अल्का गौड़, निरीक्षक मनोज कुमार, मुख्य विपणन अधिकारी सत्येन्द्र प्रताप सिंह अतुल उपाध्याय, अनुज यादव, अमित यादव, अनामिका, विजय यादव, जयशंकर प्रसाद वर्मा आदि दर्जनों मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  पेड़ से टकराई बाइक, कटीले तार में उलझे सवार,हुई मौत

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More