हिन्दी प्रचार प्रसार सेवा संस्थान ने समारोहपूर्वक मनाया हिन्दी दिवस

0

51 विशिष्ट जनों को किया गया सम्मानित

अयोध्या। हिन्दी को राष्ट्र भाषा बनाने के लिए वर्षो से प्रयासरत संस्था हिन्दी प्रचार प्रसार सेवा संस्थान ने अयोध्या के तुलसी स्मारक भवन में समारोह आयोजित किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि सी पी शुक्ला विधायक कप्तानगंज, व अयोध्या के मेयर श्रृषिकेश उपध्याय किया।
समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथ सी.पी. शुक्ला ने कहा कि हमारे देश को आजादी मिले लगभग सत्तर वर्ष बीत चुके फिर भी अभी तक हिन्दी को राष्ट्र का दर्जा नही मिल पाया फिर भी बहुतायत जगहों पर हिन्दी बोली जाती है लेकिन हिन्दी को राष्ट्र का दर्जा हासिल हो इसके लिए हम सभी को मिलकर आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम हिन्दी को राष्ट्र भाषा बनाने के लिए मुख्यमंत्री से बात करेंगे जिससे हमारी बात सरकार तक पहुंचे और जल्द ही हिन्दी को विश्व की सम्पर्क भाषा बनाया जा सके ।
वही मेयर श्रृषिकेश उपध्याय ने कहा कि हिन्दी को राष्ट्र भाषा बनाने के लिए जो प्रयास किया है व निश्चित ही सम्मान जनक है उन्होंने डॉ सम्राट अशोक मौर्य को आश्वासन दिया कि सरकार तक आपकी बात अवश्य पहुंचाएगे और संस्था के लिए हर सम्भव मदद करेंगे। समारोह में विशिष्ट क्षेत्रों मे उत्कृष्ट कार्य करने वाले 51 लोगों को सम्मानित किया गया जिसमें वैद राम प्रकाश पाण्डेय जी को चिकत्सा के लिए, डॉ अनिल कुमार को हिन्दी में उत्कृष्ट कार्य के लिए, पहलवान मनी राम दास व महान्त राजू दास को समाज सेवा के कार्य में, डॉ अनुपमा मिश्रा को चिकित्सा में, डॉ ए के सिंह को चिकत्सा में, डॉ अब्दुस्सलाम को चिकित्सा में, डॉ सन्त राम पाण्डेय, देशराज क्रांति, राम अक्छैबर, महान्त राम शरण दास, महान्त रमेश दास, महान्त रामदास, आफताब उल्लाह, अरसद, रमेश मिश्र, पत्रकारिता में महेन्द्र त्रिपाठी, अजय कन्नौजिया, मंजर मेंहदी ,अवध कमेंट वीक के सम्पादक शिव कुमार मिश्र, किशन पाठक को शिक्षा में, डॉ प्रदीप तिवारी, डॉ रामबाबू मौर्या, श्रीचन्द्र भूषण, डॉ बजरंग मौर्य, सत्य प्रकाश, अनीता द्विवेदी, भानु प्रताप भयंकर को वीर रस की कविता के लिए, आफताब फिरदौस, सुश्री पद्मावती कथावाचक में, कवि शैलेन्द्र पाण्डेय मासूम, विरेन्द्र श्रीवास्तव, एम बी दास, सहित अन्य लोगों सम्मानित किया
इस मौके पर सुभाष चैरसिया, कृपानिधान तिवारी, डॉ एकता त्रिपाठी, कात्यायनी उपाध्याय, शैलेन्द्र मासूम, वैद्य राम प्रकाश पाण्डेय, भोलानाथ पाण्डेय, विवेक यादव, राम जन्मभूमि मंदिर के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येन्द्र दास , डॉ स्वदेश मलहोत्रा, शीतला सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता व हिन्दी साहित्य प्रेमी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  शादी से किया मना, तो करा दी प्रेमी सिपाही की हत्या

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: