The news is by your side.

सीडीओ की अध्यक्षता में हुआ किसान दिवस

भाकियू नेताओं ने उठाई किसानों की समस्याएं

अयोध्या। माह के तीसरे बुधवार को मुख्य विकास अधिकारी अनिता यादव की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में किसान दिवस का आयोजन हुआ जिसमें कृषि से संबंधित अधिकारियों तथा भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं/ पदाधिकारियों व किसानों ने भाग लिया। भारतीय भारतीय किसान यूनियन के नेताओं द्वारा किसानों की समस्याओं को बिंदु वार रखा गया जिस पर संबंधित अधिकारियों द्वारा समाधान का प्रयास किया गया । किसान दिवस की व्यवस्था पर प्रश्न उठाते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय सचिव घनश्याम वर्मा ने कहा कि ठंड के सीजन में 4ः00 बजे किसान दिवस का आयोजन करना उचित नहीं है पूर्व की भांति अपराहन 2ः00 बजे से रखा जाए और गत 3 माह से किसान दिवस का आयोजन नहीं हो पाया है इसलिए किसान दिवस की अध्यक्षता शासनादेश के अनुसार जिला अधिकारी को ही करनी चाहिए।

Advertisements

किसान दिवस में गन्ना पर्ची की समस्या तथा सर्वे में संशोधन का मुद्दा और मिल गेट की समितियों का इन्डेट बढ़ाने का मामला उठाया, सरकारी धान क्रय केंद्रों द्वारा धान खरीद में की जा रही किसानों के शोषण का मामला उठाया गया छुट्टा जानवरों, नीलगाय से खेती को बचाने और दुर्घटना को बचाने का मामला उठाया गया, नहरों में पानी राजकीय नलकूपों को दुरुस्त करने, बिजली के ढीले तारों को ठीक करने, तथा नवीन मंडी में किसान फड अलग करने का मामला उठाया गया।

इसके पूर्व भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं/ पदाधिकारियों ने गांधी पार्क में जिला अध्यक्ष सूर्यनाथ नाथ वर्मा के नेतृत्व में मासिक पंचायत किया जिसमें आगामी 16, 17 व 18 जनवरी को इलाहाबाद की तीन दिवसीय शिविर में चलने की तैयारी की गई और 23 दिसंबर किसान दिवस के उपलक्ष में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा सरजू तट के किनारे पर चरण सिंह के प्रतिमा पर माल्यार्पण करने एवं युवा संवाद स्थापित करने हेतु करने का निर्णय लिया गया। भारतीय किसान यूनियन की तरफ से घनश्याम वर्मा के अलावा दिनेश दुबे ,जिला अध्यक्ष सूर्य नाथ वर्मा ,जिला उपाध्यक्ष शंकर पाल पांडे, राम गणेश मौर्य ,रंजीत गोरी राम अवध किसान ,रवि शंकर पांडे ,संतोष वर्मा, देवी प्रसाद वर्मा, महेंद्र वर्मा पुरुषोत्तम मौर्य ,रामबचन भारती ,गुरुदीन वर्मा, दशरथ सिंह, शिवपूजन यादव,नाथूराम यादव, बुधीराम मोरिया ,भूपेंद्र दुबे राम गोपाल मौर्य, तथा कई दर्जन किसान व महिला कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  जिगनाही जंगल में लगी भीषण आग,  10 परिवारों की संपूर्ण गृहस्थी भी जलकर राख

 

Advertisements

Comments are closed.