औद्योगिक क्षेत्रों में वृहद वृक्षारोपण करें सुनिश्चित: मनोज मिश्र

  • कहा उद्यमी व बड़े किसान वेयर हाउसों का निर्माण कर प्राप्त करें सब्सिडी

  • कमिश्नर ने की मण्डलीय उद्योग बन्धु की बैठक

Advertisement

फैजाबाद। कमिश्नर मनोज मिश्र ने मण्डलीय उद्योग बन्धु की बैठक में मण्डल के पांचो जनपद मे उद्योगों के संचालन व उद्यमियों की समस्याओं की सुनवाई करते हुये कहा कि प्रत्येक जनपद में कम से कम 20-20 हजार अच्छे पौधो जैसे सागौन व अन्य छायादार आदि का रोपण औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमी 15 अगस्त के पूर्व करना सुनिश्चित करें। इससे औद्योगिक क्षेत्र में प्रदूषण आदि में भी कमी आयेगी। उन्होनें प्रत्येक जनपद में एक जिला एक उत्पाद योजना को भी प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि गत वर्ष के एजेण्डे में जितने भी बिन्दु उठाये गये थे उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा चुका है। आयुक्त श्री मिश्र ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र में बिजली की ट्रिपिंग को कम करने के लिये नयी लाइन निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गयी है। इसके साथ ही उद्यमी व बड़े किसान आदि अपने उत्पादों को सुरक्षित रखने के लिये बड़े वेयर हाउस (गोदाम) भी बनवायें, इसके निर्माण में सरकार द्वारा कई प्रकार की छूट प्रदान की गयी है।
उन्होनें बताया कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत कोई भी व्यक्ति उद्योग, सेवा, व्यवसाय हेतु 10 लाख तक का ऋण आसानी से प्राप्त कर सकता है। इसके साथ ही स्टैण्ड-अप इण्डिया एवं स्टार्ट-अप इण्डिया नया उद्यम स्थापित करने के लिए 10 लाख से 01 करोड़ तक अनुसूचित जाति/जनजाति (पुरूष) तथा महिलाओं को उद्योग स्थापित करने हेतु ऋण दिये जाने का प्राविधान है।
उन्होंने फैजाबाद औद्योगिक क्षेत्र 1 व 2 में तथा अन्य जनपदों के औद्योगिक क्षेत्रो में समय से स्ट्रीट लाइटें जले तथा इसके साथ ही औद्योगिक आस्थान गद्दौपुर की सड़को की मरम्मत सुनिश्चित करें। सहायक आयुक्त ने बताया कि कार्यदायी संस्था उ0प्र0 लघु उद्योग निगम कानपुर ने 96.7 लाख रू0 का आगणन तैयार किया गया है जिससे शीघ्र कार्य प्रारम्भ कराया जायेगा। इसके साथ ही आयुक्त श्री मिश्र ने औद्योगिक क्षेत्र 1 व 2 फैजाबाद में बिजली के खम्भे व तार जो जर्जर अवस्था में है उन्हें तत्काल ठीक करायें जिससे आंधी आने पर गिरने का डर न रहे।
उन्होनंे प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत विनिर्माण क्षेत्र में अधिकतम 25 लाख तथा सेवा क्षेत्र में अधिकतम 10 लाख रू0 का ऋण दिये जाने का व मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत उद्योग क्षेत्र की रू0 25 लाख व सेवा क्षेत्र को 10 लाख रू0 परियोजना लागत का 25 प्रतिषत मार्जिन मनी उपलब्ध कराने का प्राविधान है। उद्यम दो वर्ष के सफलता संचालन के उपरान्त अनुदान में परिवर्तित हो जायेगा। उन्होनंे लोन सम्बन्धी सभी योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ समय से निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर अवगत कराने को कहा इसके लिए सभी जनपद समय से जिला उद्योग बन्धु की बैठक कराये व उद्यमियों को समय से लोन सम्बन्धी योजनाओं की जानकारी देने के साथ उनकी समस्याओं का समय से निराकरण करने के भी निर्देश दिए। बैठक मंे संयुक्त आयुक्त उद्योग फैजाबाद मण्डल, वीके सिंह समेत उद्योग बन्धु की बैठक से जुड़े अधिकारी व उद्यमी उपस्थित थे।