डोगरा रेजीमेंट ने अवध विवि में लगाई हथियारों की प्रदर्शनी

    प्रदर्शनी में भारतीय सेना द्वारा प्रथम एवं द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान उपयोग किए गये सैन्य हथियारों के प्रदर्शन के साथ-साथ केमिकल वार की स्थिति में बचाव के उपकरण, रेडियो संचार प्रणाली, बम निरोधक संयत्रों सहित युद्व में प्रयुक्त किये जाने वाले तरह-तरह की रायफलों का प्रदर्शन किया गया

    सेना देश का राष्ट्रीय गौरव: प्रो. मनोज दीक्षित

    प्रदर्शनी में हथियारों का निरीक्षण करती स्कूली छात्राएं
    Advertisement

    फैजाबाद। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में डोगरा रेजीमेन्ट द्वारा सोमवार को ‘राष्ट्र प्रथम‘ के तहत भारतीय सेना द्वारा हथियारों की प्रदर्शनी परिसर में लगायी गई। प्रदर्शनी का उद्घाटन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित एवं ले0 कर्नल टी0 शरत ने किया। इस अवसर प्रो0 मनोज दीक्षित ने कहा कि सेना देश का राष्ट्रीय गौरव है राष्ट्रीय सेवा के संदर्भ में सीमाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी सेनाओं की है। उन्होंने कहा कि सभी युवा सैन्य सेवाओं में अपनी भागीदारी कर देश के लिए अपना बहुमूल्य योगदान कर सकते है। भविष्य में युवाओं को सैन्य सेवाओं के प्रति प्रेरित करने के लिए कार्यक्रम किये जायेंगे।
    प्रदर्शनी में ले0 कर्नल टी0 शरत ने बताया कि सेना के प्रति युवाओं में रूझान काफी बढ़ा है यह हर्ष का विषय है कि राष्ट्र के युवाओं के लिए सेना प्रेरणा है। किसी भी राष्ट्र के लिए यह गौरव का विषय है। उन्होंने बताया कि भारतीय सेना शौर्य, साहस और संकल्प का प्रतीक है। इस प्रदर्शनी में भारतीय सेना द्वारा प्रथम एवं द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान उपयोग किए गये सैन्य हथियारों के प्रदर्शन के साथ-साथ केमिकल वार की स्थिति में बचाव के उपकरण, रेडियो संचार प्रणाली, बम निरोधक संयत्रों सहित युद्व में प्रयुक्त किये जाने वाले तरह-तरह की रायफलों का प्रदर्शन किया गया। सेना के महत्वपूर्ण राष्ट्रीय योगदान पर विभिन्न विद्यालयों से प्रदर्शनी में भ्रमण पर आये छात्र-छात्राओं ने उत्सुक्तापूर्ण तरह-तरह के प्रश्न सैन्य अधिकारियों से किये। सेना आपातकालीन परिस्थितियों में किस प्रकार राष्ट्रीय हितों की रक्षा करती है। इस पर सैन्य क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों ने अपनी विचार रखे। डोगरा रेजीमेंट की बैंड पार्टी ने राष्ट्रीय धुन पर संगीतमयी प्रस्तुति कर राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत कर दिया। देश के हितों की रक्षा करने में सक्षम भारतीय सेना का अपनापन पाकर छात्र-छात्राएं भावविभोर हो उठे। प्रदर्शनी में सेना के अधिकारियों में कर्नल एम0एन0 सिंह, कर्नल राजीव खजूरिया, विश्वविद्यालय के एनसीसी प्रभारी डाॅ0 शैलेन्द्र वर्मा सहित अन्य सैन्य कर्मियों की सक्रिय सहभागिता रही। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो0 एस0एन0 शुक्ला, उपकुलसचिव उमानाथ सिंह, प्रो0 के0 के0 वर्मा, सहित बड़ी संख्या में शिक्षक एवं छात्र-छात्राओं की उपस्थिति रही।