The news is by your side.

84 कोसी परिक्रमा पथ विकसित होने से मिलेगा दोहरा लाभ : लल्लू सिंह

-ग्रामीण परिवेश में भी लोगों को मिलेगा स्वरोजगार

अयोध्या। सांसद लल्लू सिंह ने सिविल लाईन स्थित एक होटल में प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि 84 कोसी परिक्रमा पथ के राष्ट्रीय राजमार्ग के रुप से विकसित होने के बाद हमें इसका दोहरा लाभ मिलेगा। हमारी सांस्कृतिक पहचान चौरासी कोसी परिक्रमा पथ पर मौजूद ऋषि मुनियों की तपोस्थली व रामायण कालीन धार्मिक, पौराणिक स्थल पूरे विश्व के लिए आकर्षण का केन्द्र बन जायेंगे। अयोध्या दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं यहां दर्शन पूजन करने के लिए अयोध्या में विश्राम करेंगे। जिससे रोजगार की सम्भावनाएं बढ़ेगी। इससे जुड़े ग्रामीण परिवेश में भी लोगों को स्वरोजगार मिलेगा।

Advertisements

उन्होने बताया कि परिक्रमा पथ करीब 275 किलोमीटर लम्बा होगा। यह 10 मीटर चौड़ा तथा इसके दोनो तरफ एक से डेढ़ मीटर इण्टरलाकिंग होगी। परिक्रमा करने वाले श्रद्धालुओं मिट्टी की सड़क भी बनायी जायेगी। इस मार्ग पर दो सरयू पुल पड़ेगे। जिसमें एक शेरवाघाट तथा दूसरा मूर्तियन घाट पर बनाया जायेगा। पांच रेलवे ओवर ब्रिज का भी निर्माण परिक्रम पथ में किया जायेगा। अयोध्या आने वाले समय में विश्व की सर्वोत्तम नगरी में एक होगा।

उन्होने कहा कि हमारा देश हजारों वर्षो तक गुलाम रहा। इसके बाद जो सरकारें आयी उन्होने हमारी सांस्कृतिक विरासत को विकसित करने की ओर जोर नहीं दिया। इसलिए आज का व्यक्ति हमारी सनातन परम्परा, पौराणिक स्थलों व ऋषि मुनियों के विषय में विस्तार से नहीं जानता है। इस मार्ग में मखौड़ा धाम के साथ श्रृंगी, आस्तीक, गौतम, सुमेधा, यमदग्नि, च्यवन, रमणक, वामदेव, अष्टावक्र तथा पाराशर, संत तुलसीदास जैसे ऋषियों की तपस्थलियों के साथ-साथ इस परिधि में भगवान वराह का स्थान मौजूद है। उन्होने बताया कि फैजाबाद बसखारी फोरलेन की स्वीकृति 2016 में हो गयी थी।

इसे भी पढ़े  डीजे व लाइट कारोबारी की हत्या का पुलिस ने किया पर्दाफाश

जिसमें इस मार्ग में स्थित बाजार उजड़ जा रही थी। 2017 में इस काम को रोक दिया गया। इसके लिए बाईपास होना चाहिए था। जिसके लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा गया। मुख्यमंत्री ने इसको लेकर आख्या मांगी और अब इसकी घोषणा हो गयी है। अयोध्या का बाईपास अपने सुन्दर स्वरुप में होगा। जिसमें डिवाईडर, फुटपाथ व लाईटिंग सभी कुछ होगा। जगदीशपुर फोरलेन पर काम हो रहा है। लखनऊ 6 लेन का निर्माण लखनऊ से रिंग रोड तक होगा।

जनपद में 6 रेलवे ओवरब्रिज का सेंशन रेलवे ने दे दिया है। सातवां ओवरब्रिज फतेहगंज का भी निर्माण होना है। मोदहा का फोरलेन ओवरब्रिज का निर्माण तुरंत शुरु हो जायेगा। इसके साथ में टेढ़ी बाजार, दर्शननगर, बड़ी बुआ, परिक्रमा मार्ग, सूर्यकुंण्ड पर रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण होगा।

Advertisements

Comments are closed.