The news is by your side.

भाजपा में पुराने कार्यकर्ताओं के समर्पण की हो रही अनदेखी : शरद पाठक बाबा

 भाजपा से बगावत कर पत्नी अनीता पाठक को चुनाव में उतारा

अयोध्या । नगर निगम से महापौर पद के टिकट के लिए दावेदारी कर रहे भाजपा नेता व मित्रमंच के राष्ट्रीय प्रमुख शरद पाठक बाबा ने आखिरकार सीधी बगावत कर दी है। महापौर पद पर पत्नी अनीता पाठक को उतार कर उन्होंने संगठन पर जमकर अपनी भड़ास निकाली है। बता दें कि श्री पाठक विगत छह महीने से नगर निकाय चुनाव को लेकर सक्रिय थे।

Advertisements

बुधवार को यहां भाजपा नेता शरद पाठक बाबा ने साफ कर दिया कि वह चुनावी मैदान से नहीं हटेंगे। मेयर पद के लिए वह अपनी धर्मपत्नी का नामांकन पहले ही करा चुके थे।उन्होंने भाजपा संगठन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेसी नेता को मेयर का टिकट दे दिया गया और पुराने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की गई। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस में रहते हुए वर्तमान भाजपा प्रत्याशी महंत गिरीशपति त्रिपाठी ने 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के शीर्ष नेताओं पर अभद्र टिप्पणी की थी।

उनका आरोप कि इस बार पार्षद के टिकट में भी खेल किया गया है। पुराने कार्यकर्ताओं के समर्पण की पूरी तरह से अनदेखी की गई है। कहा कि पूरी गंभीरता के साथ जनता के बीच जाकर प्रचार किया जा रहा है वह निरंतर जनता के बीच में बने हैं।

Advertisements
इसे भी पढ़े  लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 : मतदान कार्मिकों का हुआ प्रथम प्रशिक्षण

Comments are closed.