पुलिस अभिरक्षा में हुई मौत: शव को जेसीबी से खोदवाकर देर रात किया गया दफन

  • ग्रामीणों में आक्रोश, पुलिस छावनी बना रहा गांव

  • पूर्व मंत्री ने कहा थाना पुलिस की पिटाई बनी मौत का कारण

  • सपा प्रतिनिधि मण्डल पीड़ित के परिजनों से मिला

फैजाबाद। पुलिस अभिरक्षा में जिला चिकित्सालय में इलाज के दौरान छेड़छाड़ के आरोपी दशरथ लाल पासी की मौत के बाद पुलिस के हाथपांव फूल गये। देर रात तीन डाक्टरों के पैनल ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम किया परन्तु मृतक के परिजन शव को ले जाने को जब तैयार न हुए तो पुलिस शव को लेकर कोटवा गांव पहुंची बड़ी मिन्नत के बाद परिवारीजन शव को दफनाने को तैयार हुए पुलिस प्रशासन ने जेसीबी से कब्र खुदवाकर शव को देर रात दफनवाया। इस काण्ड को लेकर कोटवा गांव में आक्रोश व्याप्त है।
उक्त प्रकरण को लेकर सपा के राष्ट्रीय सचिव पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने भी पुलिस पर सवालिया निशान खड़े किये हैं उन्होंने बताया कि इनायतनगर थाना क्षेत्र के गांव कोटवा के रहने वाले दशरथ लाल पासी इनायतनगर थाना में बन्द था जिस पर पुलिस ने थर्ड डिग्री का प्रयोग किया, जिसे पुलिस ने लीपापोती करके जिला चिकित्सालय में इलाज के लिए गम्भीर अवस्था में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गयी। मामले को लेकर सपा का एक प्रतिनिधि मण्डल पूर्व मंत्री की अगुवाई में कोटवा गांव पहुॅंचा जहाॅं पर परिवार के लोगों ने पूरी घटना की जानकारी पूर्व मंत्री को दी। पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में जंगलराज कायम हो चुका है। पुलिस गुण्डागर्दी कर रही है और गुण्डों का रोल अदा कर रही है जिससे पूरे प्रदेश में पुलिस के प्रति लोगों में डर व भय का माहौल बना हुआ है। प्रतिनिधि मण्डल में शामिल विधान परिषद सदस्य लीलावती कुशवाहा ने कहा कि दशरथ लाल पासी को पुलिस ने लात-घूसों व डण्डों से इतनी बुरी तरह पीटा जिससे इनायतनगर थाने में ही उसकी मौत हो गयी और पुलिस के लोग पिटाई को एक सिरे से खारिज कर रहे हैं। श्रीमती कुशवाहा ने कहा कि पुलिस सफेद झूठ बोल रही हैं और मृतक दशरथ लाल पासी को मिरगी का मरीज बता रही है। लेकिन परिवार का कहना है कि हमारे परिवार में किसी को भी मिरगी की बीमारी नहीं है। श्रीमती कुशवाहा ने कहा कि पुलिस के इस तांडव को लेकर विधान परिषद में इस प्रकरण को मजबूती के साथ रखा जायेगा और दोषियों के ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही करायी जायेगी। सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव ने कहा कि मृतक दशरथ लाल पासी की मौत के बाद पुलिस के लोग मामले को रफा दफा करने के लिये उसी के बाग में देर रात जेसीबी मशीन से 16 फिट गहरा व 12 फिट लम्बा गड्ढा खोदकर लाश को गाड़ दिये। पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी बना हुआ है जिससे गांववासियों में दहशत का माहौल है। प्रतिनिधि मण्डल में सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव, पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य इन्द्रपाल यादव, युवजन सभा के जिलाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह अनूप, अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकोष्ठ के प्रभारी छोटेलाल यादव, भीमल कुशवाहा, व्यापारी नेता बैजनाथ वैश्य व मास्टर शिवशंकर यादव मौजूद थे। प्रवक्ता ने बताया कि यदि पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला तो एक सप्ताह बाद समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर बड़ा आन्दोलन करेगी।

इसे भी पढ़े  समारोहपूर्वक मनाया गया उत्तर प्रदेश दिवस

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More