The news is by your side.

कैंसर अस्पताल में सीएम ने 18 करोड़ की रेडिएशन मशीन का किया लोकार्पण

-समय के अनुरूप तकनीकी उन्नयन नहीं तो प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाएंगे : सीएम योगी

गोरखपुर। शुक्रवार को गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी ने शनिवार को हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल में नई रेडिएशन मशीन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि कमजोर तबके के कैंसर मरीजों के इलाज में आशा की नई किरण का संचार हुआ है।

Advertisements

शनिवार को इस मशीन का लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने इसे पूर्वांचल, बिहार और नेपाल के कैंसर मरीजों के इलाज में नए युग की शुरुआत बताया।उन्होंने कहा कि इससे पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और पड़ोसी देश नेपाल के सीमाई इलाकों के कैंसर मरीजों को बड़ी राहत मिली है। गोरखपुर के हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल एवं शोध संस्थान में राज्य सरकार के अनुदान से लगाई गई नई रेडिएशन मशीन से अब उनका कष्टरहित इलाज होगा।

उन्होंने कहा कि कल्याण पत्रिका के आदि संपादक भाईजी हनुमान प्रसाद पोद्दार की स्मृति में यह अस्पताल 45 साल पहले तब बना था, जब पूर्वी उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए तरसता था।नागरिकों को इलाज के लिए लखनऊ, दिल्ली और मुम्बई के अस्पतालों पर निर्भर रहना पड़ता था। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक दौर तक कैंसर को लाइलाज मान लिया गया था, पीड़ित परिवार आर्थिक तंगी के चपेट में आ जाते थे। तब इस अस्पताल ने सीमित संसाधनों में बेहतर चिकित्सा सुविधा देने का प्रयास किया। मुख्यमंत्री ने नई रेडिएशन मशीन को समय की मांग करार देते हुए कहा कि समय के अनुरूप हम तकनीकी उन्नयन नहीं करेंगे तो प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाएंगे। नई मशीन से कैंसर मरीजों को रेडियो थेरेपी की अत्याधुनिक सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि जीवन के हर क्षेत्र में तकनीकी बदलाव के साथ सामंजस्य जरूरी है।

इसे भी पढ़े  रामपथ, भक्ति पथ एवं जन्मभूमि पथों के चौड़ीकरण से विस्थापित दुकानदारों को बड़ी राहत

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम हर नागरिक को सस्ते में बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधा देने को सरकार प्रतिबद्ध है। विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाओं वाला गोरखपुर एम्स बनकर तैयार है। अक्टूबर में पीएम मोदी के हाथों इसका उद्घाटन कराया जाएगा। आजादी मिलने के बाद से 2016 तक यूपी में महज 12 मेडिकल कॉलेज थे। 2017 के बाद से अबतक 33 नए मेडिकल कॉलेज हमारी सरकार ने बनाए। पूर्वी उत्तर प्रदेश के देवरिया व सिद्धार्थनगर में मेडिकल कॉलेज बन गया है। बस्ती का मेडिकल कॉलेज गत वर्ष से शुरू हो गया है। कुशीनगर में बन रहा है।

बलरामपुर में केजीएमयू लखनऊ के सेटेलाइट सेंटर खोला गया है। उन्होंने कहा कि पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश में एकमात्र बीआरडी मेडिकल कॉलेज था। उसके भवन जर्जर थे, पर्याप्त फैकल्टी नहीं थी। 2005-06 में तो इसे प्राइवेट सेक्टर में बेचे जाने की चर्चा थी। आज बीआरडी मेडिकल कॉलेज पूरी क्षमता से लोगों की सेवा कर रहा है। यहां नई सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक बनकर तैयार है। कोरोनाकाल में यह मेडिकल कॉलेज इलाज का बेहतरीन केंद्र बनकर सामने आया। सीएम ने कहा कि 2017 के पहले प्रदेश में एक भी लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस नहीं थी, आज 350 से अधिक लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस हैं। हर जिले में इसकी व्यवस्था है। यूपी में सरकार ने सेवा 108 के तहत 4600 एम्बुलेंस की व्यवस्था की है।

सीएम योगी ने कहा कि क्वालिटी ऑफ़ लाइफ की दिशा में यूपी तेजी से आगे बढ़ रहा है। हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल गोरखपुर में नई अत्याधुनिक रेडिएशन मशीन लगाई गई है। इसके पहले गत वर्ष पीएम मोदी ने वाराणसी में कैंसर संस्थान का लोकार्पण किया था। लखनऊ में भी राज्य सरकार के स्तर से ऐसे ही संस्थान का निर्माण किया गया है।

इसे भी पढ़े  योग करो निरोग रहो की थीम पर मनाया गया योग दिवस

समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाईजी हनुमान प्रसाद पोद्दार के प्रति अपनी भावांजलि भी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि नर सेवा- नारायण सेवा भाईजी हनुमान प्रसाद पोद्दार का ध्येय वाक्य था। कल्याण के आदि सम्पादक के रूप में उनकी साहित्य साधना अविस्मरणीय है। हर व्यक्ति उनके पांच दशक बाद भी उनकी सेवा समपर्ण की भावना के प्रति श्रद्धा रखता है। उनकी स्मृति में बना यह कैंसर अस्पताल उनकी सेवाभावना को आगे बढ़ा रहा है।

देश व प्रदेश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर में व्यापक परिवर्तन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश व प्रदेश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में व्यापक परिवर्तन आया है। हर नागरिक व गरीबी की रेखा से नीचे जीवनयापन करने वालों के लिए अलग अलग योजनाएं घोषित की गई हैं। हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर पर बड़ी धनराशि खर्च की जा रही है। सीएम योगी ने बताया कि पीएम मोदी द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के तहत नागरिकों को प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये तक निशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। यूपी में आयुष्मान योजना से जो लोग वंचित रह गए हैं उनके लिए मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू की गई है जिसके तहत पांच लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा की व्यवस्था की गई है। इसके लिए कैम्प लगाकर लोगों के कार्ड बनाए जा रहे हैं। आज से चार वर्ष पूर्व ऐसी सुविधा नहीं थी। 40 लाख अंत्योदय कार्डधारकों को सीएम जन आरोग्य योजना में कवर किया जा रहा है। मजदूरों को भी पांच लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा देने की शुरुआत की गई है। नई रेडिएशन मशीन का लोकार्पण करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल का निरीक्षण भी किया। वह आईसीयू, डे केयर वार्ड, स्पेशल वार्ड, ओटी कॉम्प्लेक्स में गए और वहां इलाज की व्यवस्था और मशीनों के बारे में जानकारी ली। सीएम ने विशेषज्ञों से बातचीत कर नई रेडिएशन मशीन की विशेषता के बारे में भी पूछा।

इसे भी पढ़े  भारतीय सेना के जवानों ने जोश और उत्साह के मनाया 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

नई मशीन से सामान्य कोशिकाओं पर नहीं पड़ेगा बुरा प्रभाव

कैंसर हॉस्पिटल में लगाई गई इस रेडिएशन मशीन की लागत 18 करोड़ रुपये है जिसमें 8.5 करोड़ रुपये का अनुदान योगी सरकार ने दिया है। हॉस्पिटल के रेडियोथेरेपी विभाग में नई रेडिएशन मशीन को स्थापित किया गया है। यह टारगेट ओरिएंटेड मशीन है यानी उन्हीं कोशिकाओं पर असर डालती है जो कैंसर से प्रभावित हैं। इससे मरीजों को रेडिएशन से होने वाले साइड-इफेक्ट में काफी कमी आएगी। इस मशीन की खासियत यह है कि इससे रेडिएशन के दौरान सामान्य कोशिकाओं पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।

कार्यक्रम में हनुमान प्रसाद पोद्दार स्मारक समिति के रसेंदु फोगला, उमेश सिंहानिया, अनुराग डालमिया, परमेश्वर प्रसाद अजितसरिया, प्रमोद मातनहेलिया, कैंसर अस्पताल के प्रमुख डॉ एचआर माली आदि ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत किया। इस अवसर पर महापौर सीताराम जायसवाल, विधायक डॉ विमलेश पासवान, विधायक ज्ञानेंद्र सिंह, राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती अंजू चौधरी, गोरखपुर एम्स की निदेशक डॉ सुरेखा किशोर, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ गणेश कुमार, पूर्व महापौर डॉ सत्या पांडेय, चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विष्णु प्रसाद अजितसरिया, पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल, अतुल सराफ आदि मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.