The news is by your side.

भूटान सैन्य प्रतिनिधिमंडल ने कुलपति प्रो. मनोज दीक्षित से की भेंट

प्रतिनिधि मण्डल ने डा. राममनोहर लोहिया अवध विवि में संचालित पाठ्यक्रमों के बारे में प्राप्त की जानकारी

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कौटिल्य प्रशासनिक सभागार में भूटान सैन्य प्रतिनिधि मंडल ने कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित के साथ भेंट की। सैन्य प्रतिनिधि मंडल में ले0 वांगडी डोरजी, ले0 उग्यान फुंटशो एवं ले0 चोकी डोरजी ने विश्वविद्यालय में संचालित पाठ्यक्रमों के बारे में क्रमवार जानकारी प्राप्त की।
भूटान एवं भारत के आपसी संबंधों पर प्रकाश डालते हुए कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित ने बताया कि हम सभी की साझी सांस्कृतिक विरासत विश्वभर में एक अनूठी मिशाल है। इन दोनों देशों के रिश्ते सिर्फ पड़ोस के न होकर एक परिवार सरीखे है। भूटान प्राकृतिक रूप से दुनियां का एक सुन्दर देश है यह अपनी सांस्कृतिक एवं पारम्परिक मान्यताओं को संजोये हुए भारत के साथ सामाजिक, आर्थिक स्तर पर एक जुट है। हमारी संस्कृति एवं सामाजिक स्थितियां ही एक जैसी नही है वरन् सामरिक हित भी एक दूसरे से जुड़े हुए है। प्रो0 दीक्षित ने बताया कि भूटान के विद्यार्थियों के लिए भारत के शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश हेतु प्रावधान है इसी क्रम में यह विश्वविद्यालय भी सभी पाठ्यक्रमों में पॉच-पॉच सीटो पर भूटान के विद्यार्थियों को प्रवेश देने के लिए सुविधा प्रदान करेगा। भूटान के विद्यार्थियों के लिए आई0सी0एस0एस0आर0 द्वारा छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है। दोनों देशों के रिश्तों पर प्रकाश डालते हुए प्रो0 दीक्षित ने बताया कि बौद्ध धर्म का विकास भारत की धरती से ही प्रारम्भ हुआ अयोध्या इस मायने में काफी महत्वपूर्ण है भगवान बुद्ध ने अयोध्या में अपने काफी समय आध्यात्मिक चिंतन के रूप में व्यतीत किया है। सारनाथ, कौशाम्बी, श्रावस्ती, कुशीनगर एवं लुम्बनी जैसे स्थल बौद्ध धर्म के मतावलंबियों के लिए काफी महत्वपूर्ण है। विश्वभर के पर्यटक इन स्थलों पर भ्रमण करने आते है। भूटान भी पर्यटन की दृष्टि से एक रमणीय स्थल के रूप में विख्यात है।
विश्वविद्यालय में संचालित स्नातक एवं स्नात्कोत्तर स्तर के पाठ्यक्रमों के साथ व्यावसायिक एवं नये संचालित पाठ्यक्रमों पर भौतिकी एवं इलेक्ट्रानिक्स विभाग की शिक्षिका डॉ0 गीतिका श्रीवास्तव ने पी0पी0टी0 के माध्यम से प्रतिनिधि मंडल को शैक्षिक गतिविधियों की जानकारी दी। भूटान सैन्य प्रतिनिधि मंडल ने विश्वविद्यालय परिसर एवं आई0ई0टी0 परिसर का भ्रमण कर शैक्षिक गतिविधियों का जायजा लिया एवं आवश्यक जानकारी प्राप्त की। कुलपति जी द्वारा सैन्य प्रतिनिधि मंडल का पुष्पगुच्छ एवं स्मृति चिन्ह भेटकर स्वागत किया। इस अवसर पर प्रति कुलपति प्रो0 एस0 एन0 शुक्ल, कार्यपरिषद् सदस्य ओम प्रकाश सिंह, मुख्य नियंता प्रो0 आर0एन0 राय, प्रो0 के0 के0 वर्मा, प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 मृदुला मिश्रा, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 अनुप कुमार प्रो0 फारूख जमाल, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, प्रो0 रमापति मिश्र, डॉ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, डॉ0 विनय कुमार मिश्र, डॉ0 आर0एन0पाण्डेय, डॉ0 मनीष सिंह, आशीष मिश्र उपस्थित रहे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.