The news is by your side.

जनवरी माह में होगा अयोध्या रेलवे स्टेशन का लोकार्पण

-प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले पूरी कर ली जाएगी जौनपुर से बाराबंकी तक की डबल रेल लाइन


अयोध्या। अयोध्या में भव्य राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पूर्व अयोध्या धाम में बन रहे रेलवे स्टेशन के फेज वन का निर्माण पूरा हो जाएगा । उसे यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा। इसके अलावा बाराबंकी से जौनपुर तक डबल लाइन रेल मार्ग का काम भी पूरा कर लिया जाएगा।

Advertisements

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधाओं को लेकर जानकारी करने एवं भविष्य में अयोध्या में राम मंदिर का दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को भारी को देखते हुए यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ाने और रेल यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा प्रदान करने के संदर्भ में अधिकारियों के साथ जानकारी करने के लिए आए उत्तर रेलवे के जीएम शोभन चौधरी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन के लिए लाखों यात्री 22 जनवरी को और उसके बाद भी यहां आएंगे । इसे देखते हुए कई ट्रेनों को चलाया जाएगा। इसके लिए हम यहां व्यवस्थाओं की जानकारी लेने आए हैं।

उन्होंने बताया कि यात्रियों को सुविधा देने के लिए अयोध्या धाम स्टेशन पर बन चुकी फेज वन की बिल्डिंग को खोल दिया जाएगा। इसके अलावा अभी फेस टू का काम प्रारंभ होना है । जो लगभग दो-तीन साल में पूरा होगा। उसके लिए अभी जमीन भी खरीद करनी है । अभी तीन प्लेटफार्म भी बनने हैं । उन्होंने बताया कि फेज वन का पूरा काम दिसंबर में तो नहीं पूरा हो पाएगा लेकिन जनवरी माह में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले पूरा कर दिया जाएगा । अभी रेलवे का पूरा ध्यान जौनपुर से बाराबंकी तक रेल मार्ग को डबल लाइन में परिवर्तित करने का है। जिसे प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले पूरा कर लिया जाएगा। जब यह रेल मार्ग बन जाएगा तभी ट्रेनों की संख्या में वृद्धि की जा सकेगी।

इसे भी पढ़े  पुण्यतिथि पर याद किए गये भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू

उन्होंने बताया कि अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन का भी निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाएगा। किंतु यह कार्य जनवरी माह के बाद में ही प्रारंभ हो पाएगा। इसके अलावा अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशनके माल गोदाम को इसी माह सलारपुर रेलवे स्टेशन को स्थानांतरित कर दिया जाएगा ।यह पूछने पर की कितनी ट्रेनें चलाई जाएगी उन्होंने कहा कि यह तो रेल मंत्रालय ही तय करेगा। निरीक्षण के दौरान उनके साथ डीआरएम लखनऊ मनीष थापलियाल और रेलवे से संबंधित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.