The news is by your side.

मंदिर निर्माण से पहले बनेंगे तीनों पथ, ग्रामीणांचल का भी होगा विकास

-मण्डलायुक्त सभागार में हुई पूर्वांचल विकास बोर्ड की बैठक

अयोध्या। पूर्वांचल विकास बोर्ड की बैठक मण्डलायुक्त सभागार में उपाध्यक्ष नरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में अयोध्या मण्डल के साथ-साथ पूर्वांचल के 8 मण्डलों एवं 28 जिलों के समग्र विकास के सम्बंध में चर्चा की गयी। बोर्ड के नामित अलग-अलग जिलों के सदस्यों ने वहां की समस्याओं को तथा अयोध्या धाम को विश्व स्तरीय पर्यटन नगरी के रूप में स्थापित करने के सम्बंध में अपने-अपने विजन को रखा। उपाध्यक्ष नरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार हम सभी ने पूर्वांचल के लगभग सभी मण्डलों में बैठक कर चुके है। बैठक से प्राप्त मुख्य बिन्दुओं को जल्द ही मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे और पूर्वांचल के समग्र विकास हेतु सरकार की मंशा के अनुरूप योजनाओं के क्रियान्वयन के सम्बंध में परामर्श देंगे। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल विकास बोर्ड में सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव तथा पूर्वांचल में स्थित विश्वविद्यालयों के वाइस चांसलर सदस्य है।

Advertisements

बोर्ड का उद्देश्य पूर्वांचल के समग्र विकास से सम्बंधित सुझाव देना है बोर्ड के अध्यक्ष मुख्यमंत्री स्वयं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा अयोध्या धाम का समग्र विकास किया जा रहा है इसके साथ साथ अयोध्या के ग्रामीणांचल का भी विकास किया जाना है। इसके लिए बेहतर योजना बनाकर अयोध्या के ग्रामीणांचलों का भी विकास किया जाय। बैठक में मण्डलायुक्त गौरव दयाल ने सभी सदस्यों का स्वागत किया तथा अयोध्या मण्डल के सम्बंध में उपाध्यक्ष एवं सभी सम्मानित सदस्यों को अयोध्या मण्डल के सम्बंध में संक्षिप्त जानकारी देते हुये बताया कि अयोध्या में अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण के साथ-साथ विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है तथा श्रीराम जन्मभूमि को जोड़ने वाले जन्मभूमि पथ, भक्ति पथ, रामपथ, धर्मपथ, पंचकोसी परिक्रमा मार्ग, 14 कोसी परिक्रमा मार्ग के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य युद्वस्तर पर चल रहा है, इन सभी पथों को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण पूर्ण होने से पूर्व पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होंने आश्वस्त किया कि सरकार की मंशा के अनुरूप विभागीय अधिकारी योजनाओं का क्रियान्वयन करेंगे। उन्होंने अयोध्या मण्डल में बैठक आयोजित करने के लिए सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। नगर आयुक्त विशाल सिंह ने अयोध्या की साफ सफाई के लिए चल रहे कार्यो तथा भविष्य में अयोध्या को कैसे साफ सुथरा रखा जायेगा इसकी कार्ययोजना के सम्बंध में बोर्ड को अवगत कराया तथा उन्होंने बताया कि अयोध्या में रामायणकालीन कुंडों का सौन्दर्यीकरण का कार्य किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  जगत का कल्याण हो यज्ञ का यही है उद्देश्य : महंत परशुराम दास

पूर्वांचल विकास बोर्ड के सलाहकार साकेत मिश्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है, जिससे आने वाले दिनों में श्रद्वालुओं की संख्या में लाखों की बढ़ोत्तरी होगी। इसके लिए अयोध्या एवं अयोध्या के आसपास समग्र विकास हेतु बेहतर योजना की आवश्यकता है, जिससे देश विदेश से आने वाले श्रद्वालुओं को हम बेहतर सुविधा उपलब्ध करा सकें। उन्होंने अयोध्या में निवेश के लिए बेहतर माहौल बनाने के साथ कृषि क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने पर जोर दिया। बोर्ड के सदस्य जयप्रकाश निषाद ने कहा कि पूरे देश के लोगों की निगाहें अयोध्या पर है इसके लिए अयोध्या में बेहतर कनेक्टविटी के साथ श्रद्वालुओं को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए योजना बनाने का जोर दिया। साथ ही सरयू परियोजना तथा जल पुलिस की स्थापना तथा इसका मुख्यालय पूर्वांचल में स्थापित करने का सुझाव दिया। बोर्ड के सदस्य विजय शंकर यादव ने सरयू नहर परियोजना के अन्तर्गत जनपद सिद्वार्थनगर, महाराजगंज से होते हुये गोरखपुर के लिए बनायी जा रही नहर के अप्रोच सड़क बन रही है उस पर पुलिया निर्माण का विषय उठाया।

बोर्ड के सदस्य परदेशी रविदास ने कहा कि हम सभी का दायित्व है कि समाज का वह तबका जो विकास से अधूरा रह गया है उसको इस बोर्ड के माध्यम से विकास से लाभान्वित करें। बोर्ड के सदस्य बौद्व अरविन्द पटेल ने गन्ने के सम्बंध में सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं से किसानों को जागरूक किये जाने का सुझाव दिया तथा धार्मिक नगरी में फूल की खेती को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया। बोर्ड के सदस्य जितेन्द्र पांडेय ने जनपद गाजीपुर में विश्वविद्यालय स्थापना के साथ अपने जनपद की विभिन्न समस्याओं पर ध्यान आकर्षित कराया। बोर्ड के सदस्य राजकुमार शाही ने गोवंश की सुरक्षा तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पुरानी पानी की टंकी की गुणवत्ता आदि की जांच सहित बिजली विभाग के बिजिलेंस की कार्यप्रणाली में सुधार लाने पर जोर दिया। एमएलसी एवं बोर्ड के सदस्य के0पी0 श्रीवास्तव ने अयोध्या, प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग के चैड़ीकरण का मुद्दा उठाया तथा गोवंशों के नश्लों में सुधार का सुझाव दिया।

इसे भी पढ़े  मण्डलायुक्त ने अधिकारियों के साथ मेला परिसर का लिया जायजा

सदस्य अशोक चौधरी ने पशु चिकित्सालयों की स्थिति को सुधारने के सम्बंध में सुझाव दिये। सदस्य विजय विक्रम सिंह (अमेठी) ने कहा कि अयोध्या की एक विश्व स्तरीय पहचान है अयोध्या के अंदर बाल्मीकि रामायण में उल्लिखित पेड़ों को भी लगाया जा रहा है। इसको 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के किनारे लगाने का सुझाव दिया, जिससे परिक्रमा के दौरान श्रद्वालुओं में श्रद्वा का भाव रहेगा। अयोध्या में एक ऐसे पार्क की स्थापना का सुझाव दिया, जहां अयोध्या में अयोध्या में उत्तर प्रदेश, अयोध्या में भारत, अयोध्या में विश्व की झलक दिखे तथा मण्डल में एक फूड प्रोसेसिंग यूनिट की स्थापना का सुझाव दिया। बैठक में विशेष सचिव नियोजन आशुतोष निरंजन, विशेष सचिव कृषि अजय द्विवेदी, विशेष सचिव वित्त जयशंकर दूबे, अपर जिलाधिकारी नगर सलिल कुमार पटेल, संयुक्त विकास आयुक्त अरविन्द चन्द्र जैन, उपनिदेशक अर्थ एवं संख्या सहित मण्डल के सभी मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

 

Advertisements

Comments are closed.