The news is by your side.

कृषि जगत में निवेश की अपार संभावनाएं : डा. अवधेश तिवारी

-कृषि विश्वविद्यालय में इन्वेस्टर्स मीट का हुआ आयोजन, बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग

मिल्कीपुर। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में रविवार को यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में अर्थव्यवस्था के आकार को एक ट्रिलियन डालर तक पहुंचाने के उद्देश्य से देश व विदेशों से पूंजी निवेश आकर्षित करने के विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन एग्री बिजनेस मैनेजमेंट के प्रेक्षागृह में किया गया। पं. दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय, गोरखपुर के शिक्षाविद/ प्रोफेसर अवधेश तिवारी ने बतौर मुख्यअतिथि कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने पहली बार किसी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया जिसे देखकर लगता है कृषि के क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं हैं और इसके द्वारा एक वैचारिक क्रांति लाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसी भी चीजों के उत्पादन से अधिक महत्व उसे बाजारों तक पहुंचाना है।

Advertisements

विश्वविद्यालय के छात्र कृषि जगत के प्लेटफार्म पर आकर खुद का स्टार्टप शुरु करने के साथ-साथ दूसरों को भी रोजगार दे सकते हैं। पर्यावरण की भी जमकतर सराहना की। इस दौरान उन्होंने विवि के पर्प्रो. अवधेश ने कहा कि अपने देश पर दो सौ वर्षों तक राज करने वाले ग्रेट ब्रिटेन से अर्थव्यवस्था में हम बहुत आगे हैं। देश की 25 करोड़ की ऊर्जावान लोगों की मदद से हम बहुत जल्द अर्थव्यवस्था में तीसरे स्थान पर होंगे। उन्होंने सरकार की नीतियों का जिक्र करते हुए बताया कि राज्य में स्टार्टप , रक्षा, आईटी, कृषि और पर्यटन समेट 25 सेक्टरों में निवेश के लिए लखनऊ में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट बड़ा माध्यम बनेगा। शिक्षाविद ने कहा कि प्रदेश में निवेश के वातावरण में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। लगभग 60 लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा गया है। विशिष्ट अतिथि के तौर पर विशेष सचिव उ.प्र शासन एवं नोडल अधिकारी राजेश कुमार पांडेय ने कहा कि 2017 के बाद उत्तर प्रदेश में तेजी से बदलाव हुए हैं।

इसे भी पढ़े  अग्नि देव का तांडव जारी, कपासी में आधा दर्जन घर की गृहस्थी जलकर राख

उन्होंने सरकार की कृषि, पर्यटन व शिक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में सरकार की नीतियों का अध्ययन करें और उसका लाभ लें। यह नीतियां छात्रों की प्रतियोगी परिक्षाओं के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण साबित होगा। राजेश कुमार ने कहा कि विद्यार्थियों के उच्च शिक्षा व तकनीकी रूप से सक्षम बनाने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है, इसके लिए मिनी स्टेडियम, ओपेन जिम और प्रत्येक जिले में स्पोर्ट्स कॉलेज व हास्टल बनाए जाने की भी योजना है। कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. बिजेंद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती, मिलेट्स व स्वरोजगार पर काम कर रही है।

प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में एक सकारात्मक माहौल तैयार हुआ है साथ ही प्रदेश एक नई दिशा की तरफ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि रोजगार पाने के लिए नहीं बल्कि रोजगार देने के लिए छात्र-छात्राओं को काम करना होगा। उन्होंने कहा की वो छात्रों के सर्वांगिण विकास के लिए स्पोर्ट्स कॉलेज की भी मांग करेंगे। डा. बिजेंद्र ने कहा कि विश्वविद्यालय शिक्षा, खेल, स्वच्छ पर्यावरण के साथ-साथ सभी सुविधाएं मुहैया करा रहा है। कार्यक्रम से पूर्व सभी अतिथियों ने जल भरो कार्यक्रम व आचार्य नरेंद्र देव की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के आयोजक विवि के छात्र कल्याण अधिष्ठाता डा. डी.नियोगी व कुलसचिव डा. पी.एस प्रमाणिक व डा. भानुप्रताप सिंह रहे। धन्यवाद ज्ञापन निदेशक प्रसार डा. ए.पी राव, स्वागत संबोधन कुलसचिव डा. पीएस प्रमाणिक व संचालन डा. सीताराम मिश्रा ने किया।

सीएम ने दिया संदेश डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई

-मुख्यमंत्री ने वीडियो संदेश में कहा कि देश की इकोनॉमी में एक ट्रिलियन डॉलर की हिस्सेदारी केवल यूपी से होगी। यहां यूपी के विकास के संदर्भ में एक डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई गई जिसको सभी ने बारीकी के साथ देखा। डाक्यूमेंट्री के माध्यम से यह बताया गया की किस प्रकार उत्तर प्रदेश तेजी के साथ विकास की सीढ़ी को लगातार चढ़ रहा है और प्रदेश में निवेश के साथ-साथ रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ी हैं।

इसे भी पढ़े  कार की टक्कर से बाइक सवार पति-पत्नी व बेटा घायल

वहीं दूसरी तरफ विश्वविद्यालय द्वारा संचालित सातों महाविद्यालयों ने प्रस्तुतिकरण के जरिए यह बताया कि कृषि के क्षेत्र में भी निवेश व रोजगार की संभावनाएं कितनी तेजी से बढ़ीं हैं।

Advertisements

Comments are closed.