The news is by your side.

पौने चार साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा गबन का आरोपी

सोना गलाने-बनाने और कम्यूटराइज्ड टंचिंग का काम करने वाले महाराष्ट्र निवासी कारोबारी को पुलिस उसके घर से गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर जनपद लाई है। पौने चार साल पहले वह सर्राफा कारोबारियों का लाखों का सोना और नकदी समेट प्रतिष्ठान बंद कर फरार हो गया था।

-ट्रांज़िट रिमांड पर लेकर आई पुलिस ने अदालत में किया प्रस्तुत, मांगेगी पीसीआर

अयोध्या। नगर कोतवाली क्षेत्र के टेढी गली बजरंग टावर सर्राफा मंडी में फर्म खोल सोना गलाने-बनाने और कम्यूटराइज्ड टंचिंग का काम करने वाले महाराष्ट्र निवासी कारोबारी को पुलिस उसके घर से गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर जनपद लाई है। पौने चार साल पहले वह सर्राफा कारोबारियों का लाखों का सोना और नकदी समेट प्रतिष्ठान बंद कर फरार हो गया था।

Advertisements

वर्ष 2019 में महाराष्ट्र प्रांत के जनपद सांगली के थाना कड़ेगांव स्थित बेलवड़े निवासी बजरंग तंवर और उसके बेटे कैलाश तंवर ने नगर कोतवाली क्षेत्र के टेढी गली बजरंग टावर सर्राफा मंडी में एसबीआर गोल्ड कम्यूटराइज्ड टंच सेंटर खोला था। इस फर्म के नाम पर वह सर्राफा कारोबारियों का सोना गलाने-बनाने और कम्यूटराइज्ड टंचिंग का काम करता था। कारोबार में साख जमाने के बाद पिता-पुत्र 30 अप्रैल 2019 की रात सर्राफा कारोबारियों का सोना और नकदी समेट प्रतिष्ठान बंद कर फरार हो गए थे।

प्रकरण में 1 मई 2019 को संतोष जायसवाल हाल पता मोहल्ला रामनगर मूल निवासी कस्बा टांडा, अलीगंज, अंबेडकरनगर ने बाप-बेटे के खिलाफ 5 लाख 13 हजार रुपये का सोना गबन की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाद में अन्य पीड़ितों की ओर से आईजी से शिकायत पर 5 अक्टूबर 21 को डेढ़ किलो सोना व डेढ़ लाख नकदी के गबन की रिपोर्ट नगर कोतवाली में दर्ज हुई थी। प्रकरण में पुलिस ने प्रतिष्ठान की कुर्की भी की थी।

इसे भी पढ़े  शॉर्ट-सर्किट से गेहूं के खेत में लगी आग, 16 बीघा फसल जलकर राख

सीओ सिटी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि मामले की विवेचना में जुटी नगर कोतवाली पुलिस ने एक आरोपी बजरंग तंवर को उसके घर से गिरफ्तार किया है। स्थानीय जनपद अदालत से ट्रांजिट रिमांड हासिल कर पुलिस उसे जनपद लाई है। पुलिस कस्टडी रिमांड लेकर बरामदगी की जाएगी।

Advertisements

Comments are closed.