भारतीय परम्परा वैज्ञानिक व तार्किक: प्रो. मनोज दीक्षित

    Advertisement

     

    नवसंवत्सर मिलन समारोह का हुआ आयोजन

    फैजाबाद। डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संत कबीर सभागार में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, उत्तर प्रदेश  विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय इकाई द्वारा नवसंवत्सर मिलन समारोह का आयोजन किया गया।

    इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति एवं इकाई के संरक्षक प्रो0 मनोज दीक्षित ने कहा कि भारत एक प्राचीन सांस्कृतिक विरासत वाला देश है। एक समृद्ध संस्कृति के हम सदियों से वाहक है। नव वर्ष नये संकल्प एवं नवनिर्माण के लिये होता है। विश्वपटल पर हम निरन्तर अपनी प्रतिष्ठा को पुनः कायम करने के लिये प्रतिबद्ध है। भारतीय परम्परा बहुत ही वैज्ञानिक एवं तार्किक है इसके माध्यम से अभी बहुत कुछ प्राप्त किया जाना है। शिक्षकों का यह परम कर्तव्य है कि सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के सचेतक बने और आने वाली पीढ़ी को उच्च तकनीक से अवगत कराये तभी समृद्ध एवं खुशहाल राष्ट्र की परिकल्पना संभव है।  राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, उत्तर प्रदेश  विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय इकाई  के अध्यक्ष प्रो0 राम लखन सिंह ने कहा कि भारत में सांस्कृतिक वैचारिक राष्ट्रवाद की परम्परा की समृद्ध धरोहर के हम सभी वाहक बने ऐसा हमारा प्रयास है। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ 50 से अधिक विश्वविद्यालयों में फैला है। राष्ट्रहित में शिक्षा और शिक्षा के हित में छात्र। यही हमारा संकल्प है। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय इकाई फैजाबाद के महामंत्री प्रो0 के0 के0 वर्मा द्वारा किया गया। नवसंवत्सर मिलन समारोह में आयें हुए अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय इकाई फैजाबाद के उपाध्यक्ष प्रो0 आर0 एन0 राय ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महासंघ एवं इकाई के पदाधिकारी उपस्थित रहे।