बैंगलोर मे कॉन्फ्रेंस उद्घाटन के मुख्य वक्ता बने प्रो. रमापति मिश्र

अयोध्या। हिन्दुस्तान का इंजीनियरिंग का हब कहा जाने वाला मेट्रोपोलिटन शहर बैंगलोर में राष्ट्रीय गोष्ठी के उद्धाटन में डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के तकनीकी संस्थान के निदेशक प्रो. रमापति मिश्र को मुख्य वक्ता के सम्मान से सम्मानित किया गया ।
संस्थान के निदेशक ने कुछ महीने पहले ही 5जी पर कार्यशाला कराकर देश के चुनिन्दा विशेषज्ञों में आ गये है. जिन्हें 5जी मोबाइल भविष्य में आने वाले टेक्नालॉजी के बारे में उदबोधन के लिए बुलाया जाता है।
बैंगलोर के डॉ ए आई टी कॉलेज में अपने व्याख्यान में 5जी मोबाइल सिस्टम की चुनौतियों के बारे में नये टेक्नालॉजी की जानकारी दी। आने वाले भविष्य में हाई फ्रीक्वेंसी और जानकारी मीटर वेव पर आधारित इंटरनेट व्यवस्था नें टीम फार्मिंग टेक्नालॉजी का प्रयोग होगा जिससे बहुत तेजी से काम हो सकेगा । 5जी तकनीकी वर्तमान की तकनीकी से 100 गुना स्पीड से काम करेगा जिससे तीन घंटे की मूवी को कुछ सेकेंडों में ही डाउनलोड हो सकेगा। मशीन से मशीन की वार्ता एक सेकेंड समय से भी कम मे ही हो सकेगा जिससे टेलीमेडिशन और ड्राइवर रहित गाडियां सडको पर चल सकेगी। 5जी तकनीकी से इंटरनेट ऑफ थिग्स को बढावा मिलेगा जिससे कम्पनियों की कार्यवाही मोबाइल पर ही देख सकेंगे । भारतवर्ष में 5जी तकनीकी की आगाज वर्ष 2020 से होना है जिससे गाँव गाँव में इंटरनेट व्यवस्था को बढावा मिलेगा। स्कूल कॉलेज की पढाई इंटरनेट एवं स्मार्टक्लास से आधुनिक विद्या में होने में मददगार साबित होगा।

इसे भी पढ़े  पेड़ से टकराई बाइक, कटीले तार में उलझे सवार,हुई मौत

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More