ग्राम समाज की भूमि को करायें अतिक्रमण मुक्त: अनुज कुमार झा

सम्पूर्ण समाधान दिवस पर सख्त हुए डीएम, अनुपस्थिति 12 अधिकारियों के एक दिन का वेतन रोकने का दिया निर्देश

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में तहसील बीकापुर मंे आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस मंे जिलाधिकारी ने कड़ा रूख अपनाते हुए 12 अनुपस्थित अधिकारियों के आज दिनांक 18 जून 2019 (एक दिन) का वेतन अग्रिम आदेशों तक आहरित न करने के दिये निर्देश तथा यह भी आदेशित किया कि सम्बन्धित अधिकारीगण अनुपस्थिति के सम्बन्ध में अपना स्पष्टीकरण तीन दिवसों के अन्दर प्रस्तुत करंे।
जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में नायब तहसीलदार बीकापुर, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली इनायतनगर, चकबन्दी अधिकारी बीकापुर, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी अयोध्या, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी अयोध्या, सहायक निदेशक मत्स्य अयोध्या, एडीओ (सहकारी) हरिग्टनगंज, एडीओ (पंचायत) हरिग्टनगंज, एडीओ (कृषि) बीकापुर, एडीओ (कृषि) तारून, एडीओ (कृषि) हरिग्टनगंज तथा भूमि सरंक्षण अधिकारी सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग अयोध्या के अनुपस्थित होने पर उनके एक दिन का वेतन रोकने तथा स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि जन शिकायतों का निस्तारण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में एक है। सम्पूर्ण समाधान दिवस जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम में अधिकारियों की अनुपस्थित शासन/उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना हे। तहसील बीकापुर में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता करते जिलाधिकारी श्री झा ने कहा कि सर्वाधिक शिकायते राजस्व व पुलिस विभाग से सम्बन्धित आयी है। उन्होनें एसडीएम को निर्देश दिये कि राजस्व व पुलिस विभाग से सम्बन्धित सभी शिकायतों के इकट्ठा करे दोनों विभागों की ज्वाइंट टीम बनाकर शिकायतों पर प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें। पोखर, तालाब, चकमार्ग, नाली या अन्य किसी प्रकार की सार्वजनिक या ग्राम समाज की भूमि पर अवैध कब्जेदारों पर मुकदमा दर्ज करायें और सम्बन्धित भूमि को अतिक्रमण मुक्त करायें और अविलम्ब जमीन का स्थाई चिन्हाकंन करायें, चकमार्गो पर मिट्टी डालें, जिससे उस पर दुबारा कोई अतिक्रमण न कर सके। ग्राम समाज की किसी भूमि पर जंगल झाड़ी आदि लगाकर कब्जा कर रखा है तो उसकी निलामी करवाकर उसे अतिक्रमण मुक्त करायंे। जिलाधिकारी श्री झा ने कहा कि राजस्व व पुलिस विभाग टीम भावना के साथ निष्पक्षभाव से कार्य करें और सार्वजनिक/ग्राम समाज की भूमि पर किसी तरह का कोई भी अतिक्रमण नहीं होने दें।
एसएसपी आशीष तिवारी ने कहा कि जो भी जमीन विवाद हो उसको दोनो पक्षो के साथ निष्पक्ष होकर निस्तारित करें, जहां पर लड़ाई की आशंका हो वहां पर मुकदमा दर्ज करायें। उन्होनें कहा कि प्रशासन और पुलिस एक ही सिक्के के दो पहलू है दोनो टीम भावना से कार्य करें। जो भी शिकायतें आई हंै उसके निस्तारण हेतु एसडीएम और पुलिस ज्वाइंट टीम बनायें और प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होनें सख्त निर्देश दिये कि इस सम्पूर्ण समाधान दिवस के प्रकरण अगले तहसील दिवसों में नहीं आने चाहिए।
तहसील बीकापुर में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में हीरालाल पुत्र हरीराम निवासी ग्राम नसरतपुर, ब्लाक तारून, तहसील बीकापुर ने विपक्षी मयाराम, कर्णकुमार पुत्र राम अछैवर के विरूद्ध शिकायत की कि विपक्षीगण द्वारा सरकारी नाली को जोत बोकर अपने चक में मिला लिया है और प्रार्थी को पानी ले जाने का और कोई रास्ता नहीं है जिस पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार बीकापुर को एफआईआर दर्ज कराकर नाली को कब्जा मुक्त कराने के निर्देश दिये। सम्पूर्ण समाधान दिवस में रामलाल आदि निवासी ग्राम अमावां तहसील व ब्लाक बीकापुर ने शिकायत की कि प्रार्थीगण को गाटा सं0 451 स्थित ग्राम अमावां में आवासीय पट्टा मिला, जिसकी पैमाइश व कब्जा नहीं दिलवाया गया प्रार्थीगण भूमि हीन गरीब मजदूर है, दंबग लोग आवास नहीं बनाने दे रहे है इस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम बीकापुर व एसओ बीकापुर को ज्वाइंट टीम द्वारा जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
सम्पूर्ण समाधा दिवस में कुल 145 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुये जिसमें से 07 शिकायतों का तत्काल निस्तारण किया गया, जिलाधिकारी ने कहा कि जिन प्रकरणों में राजस्व व पुलिस की संयुक्त कार्यवाही करने को कहा गया है उनकी टीम आज ही बनाकर शिकायतों का प्रभावी निस्तारण सुनिश्चित करें जिससे यह शिकायतें दुबारा न आये। उन्होनें शेष शिकायतों का समयबद्ध एवं गुणवत्तापरक निस्तारण करने के निर्देश दिये। सम्पूर्ण समाधान दिवस में एसएसपी आशाीष तिवारी, सीएमओ हरिओम श्रीवास्तव, एसडीएम बीकापुर लवकुमार सिंह सहित अन्य सम्बन्धित विभागों जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  सोनाली सोनी बनीं एक दिन की थानेदार, वितरित किया मास्क

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More