The news is by your side.

चुनाव में सत्ता का दुरुपयोग कर रही योगी सरकार : शिवपाल यादव

-अयोध्या पहुंचे प्रसपा प्रमुख, विपक्ष से साथ आने की अपील की

अयोध्या। रामनगरी पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में प्रदेश की योगी सरकार पर सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। पत्रकारों से मुखातिब प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने प्रदेश के सभी विपक्षी पार्टियों से अपील की है कि भाजपा को हटाने के लिए एक मंच पर होना होगा। अयोध्या धाम निजी कार्यक्रम पर पहुंचे शिवपाल सिंह यादव ने साधु संतों से मुलाकात की। जहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया।

Advertisements

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने पत्रकारों के साथ बातचीत में प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया है कि पंचायत चुनाव में सत्ता का दुरुपयोग हुआ है जिससे आज निष्पक्ष रुप से चुनाव नहीं होने दिया गया। किसी का पर्चा रद्द कर देना तो किसी का पर्चा दाखिल ना होने देना यह निष्पक्षता नहीं है। वहीं प्रदेश के विभिन्न जिलों में भाजपा प्रत्याशियों के निर्विरोध को लेकर सपा में मैनेजमेंट की कमी बताई है। कहा कि इटावा में सपा को समर्थन दिया है वहां पर स्थित है कि भाजपा 1 सीटों पर आई है।
वही शिवपाल सिंह यादव ने बताया कि पहले हम पर भाजपा की बी टीम होने का आरोप लगा रहे थे अब उनको देखना चाहिए कि आगे पीछे भाजपा की बी टीम कौन है। चलो अच्छा है एक्शन दिखाया है लेकिन अभी और एक्शन की जरूरत है। वहीं अयोध्या के विजन डॉक्यूमेंट को लेकर किए गए मंथन पर भी आरोप लगाया कि भाजपा अभी तक कोई भी वादे पूरे नहीं कर सकी है। केवल झूठे वादे किए जाते हैं। यह जनता अब समझ चुकी है।

इसे भी पढ़े  31 मई से होंगी अविवि व सम्बद्ध महाविद्यालयों की सेमेस्टर परीक्षाएं

कहा कि भाजपा को हटाने के लिए सभी विपक्ष के लोगों को एक होना होगा नहीं तो प्रसपा 423 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जिसकी तैयारी की जा रही है। दावा किया है कि एक महीने में पार्टी पूरी रणनीति तैयार कर दो महीने में बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को उतार दिया जाएगा। प्रसपा प्रदेश में सरकार बनाएगी। जमीन खरीद घोटाले में कहा कि जब पूरे देश की जनता ने पैसा दिया है राम मंदिर के लिए तो उसमें एक एक पाई का हिसाब रखना चाहिए। निष्पक्ष संस्था के द्वारा जांच होनी चाहिए। कहा कि भाजपा के लोगों के पास रुपयों की कोई कमी नहीं है।नोटबंदी के समय पूरे देश के खजाने का जो हाल हुआ है जिससे पूरे देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई उसका असर आज भी जनता पर पड रहा है।

Advertisements

Comments are closed.