The news is by your side.

नेताजी सुभाष के सपनों का भारत बनाना है : रमेश दास वेदांती

-आजाद हिंद फौज के प्रथम स्वतन्त्रता दिवस पर नेताजी सुभाष को नमन किया


-भारतीय शिक्षण मंडल अवध प्रांत ने किया भारतमाता पूजन समारोह का आयोजन

अयोध्या। भारतीय शिक्षण मण्डल (अयोध्या) अवध प्रांत की ओर से शुक्रवार को ‘भारतमाता पूजन’ समारोह का आयोजन किया गया। गुरु वशिष्ठ गुरुकुल, हनुमान वाटिका में आयोजित समारोह में आजाद हिन्द फौज के प्रथम प्रधानमंत्री नेताजी सुभाषचंद्र बोस और भारतमाता के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। गुरुकुल के बच्चों ने देशभक्ति के गीत प्रस्तुत कर मन मोह लिया।

Advertisements

समारोह के अध्यक्ष श्रीराम कथा मर्मज्ञ रमेश दास वेदांती ने कहा कि आजाद हिन्द फौज के प्रथम प्रधानमन्त्री नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने सन 1943 में आज के ही दिन पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा फहराकर भारत की स्वतंत्रता का उदघोष किया था। श्री वेदांती ने कहा कि भारत राष्ट्र के निर्माण में नेताजी सुभाष से प्रेरणा लेकर हम सबको योगदान करना है।

गुरुकुल के प्रधानाचार्य दुखहरण नाथ मिश्र ने कहा कि हमें बच्चों को राष्ट्र के उस गौरवशाली इतिहास से परिचित कराना है, जिसे कांग्रेस की सरकारों ने दबाने का कुप्रयास किया। मुख्य वक्ता रोशन प्रेमयोगी ने कहा कि अखण्ड भारत का सपना ‘रामराज्य’ की स्थापना से ही पूरा होगा।

भारतीय शिक्षा मंडल युवा आयाम के प्रांत प्रमुख आदर्श सिंह “ऋषभ“ ने बताया कि पूरे प्रांत में ३०० से अधिक स्थानों पर 30 दिसंबर को ‘भारतमाता का पूजन’, झंडारोहण और भारतमाता की आरती का कार्यक्रम संपन्न हुआ। अयोध्या महानगर के 43 स्थानों पर एवं जनपद के 22 अन्य स्थानों पर कार्यक्रम हुआ। जिसमें बड़ी संख्या में विभिन्न कालेजों के छात्रों ने हिस्सा लिया।

इसे भी पढ़े  बाबा साहब के जीवन वृत्त से सीखने का करें प्रयास : नितीश कुमार

हनुमान वाटिका में समारोह का शुभारंभ ध्वजारोहण और राष्ट्रगान से हुआ। भारतमाता के गान से समारोह का समापन हुआ। इस अवसर पर गुरुकुल के निदेशक डॉ. दिलीप सिंह, आचार्य सदाशिव, आचार्य रोहित समेत कई संतगण भी उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.