The news is by your side.

‘विवेकानंद संदेश यात्रा’ का वशिष्ठ गुरुकुल पर हुआ भव्य स्वागत

-विवेकानंद केन्द्र कन्याकुमारी के राष्ट्रीय महासचिव भी हुए सम्मिलित, तिवारी मंदिर में आयोजित खिचड़ी भोज में बटुकों ने ग्रहण किया प्रसाद


अयोध्या। ‘विवेकानंद संदेश यात्रा’ का शनिवार को श्रीवशिष्ठ गुरुकुल हनुमान वाटिका पर भव्य स्वागत किया गया। अयोध्या भ्रमण के लिए कारसेवकपुरम से निकली यात्रा का नेतृत्व विवेकानंद केन्द्र कन्याकुमारी के राष्ट्रीय महासचिव भानुदास ने किया। स्वामी विवेकानन्द के परिधान में सजे गुरुकुल के दर्जनों बटुक यात्रा का मुख्य आकर्षण बने।

Advertisements

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में भ्रमण कर स्वामी विवेकानंद का सन्देश जनदृजन तक पहुंचाने के लिए लखनऊ से ये यात्रा निकाली गई है। शनिवार को सुबह कारसेवकपुरम से नगर भ्रमण के लिए निकली यात्रा में श्री वशिष्ठ गुरुकुल के 60 से अधिक बटुकों ने सहभागिता की। स्वामी विवेकानन्द के परिधान में सजे गुरुकुल के बटुकों ने स्वामी विवेकानन्द का जयकारा लगाते हुए लोगों को जागरूक किया। तिरंगा झंडा लहराते हुए देशभक्ति के नारे लगाते हुए निकली यात्रा पर जगह जगह फूल बरसाकर स्वागत किया गया। हनुमान बाग स्थित श्री वशिष्ठ गुरुकुल पर निदेशक डॉ दिलीप सिंह के नेतृत्व में दर्जनों संतों और गण्यमान्य लोगों ने फूल बरसाकर स्वागत किया।

जानकीमहल के सामने से होते हुए यात्रा लता मंगेशकर चौक नया घाट पहुंची। जहां पर सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने स्वामी विवेकानन्द की मूर्ति पर पुष्प वर्षा की। वहां से यात्रा तिवारी मंदिर नया घाट पहुंची। महंत गिरीशपति त्रिपाठी ने यात्रा का स्वागत किया। मंदिर में खिचड़ी भोज का भी आयोजन हुआ। यात्रा में शामिल प्रतिनिधियों ने मंदिर में भगवान श्रीराम का दर्शन करके प्रसाद ग्रहण किया। भाजपा विधायक वेद गुप्ता समेत कई गण्यमान्य लोग यात्रा में शामिल हुए। लोगों को स्वामी विवेकानन्द का साहित्य भी दिया गया।

Advertisements

Comments are closed.