विधवा मां-बेटे की पिटाई, पुलिस नहीं सुन रही फरियाद

पुलिस मामले की जांचकर मुकदमा दर्ज करने के बजाय घटना को लेकर जता रही अनभिज्ञता 

Advertisement

सोहावल। रौनाही थाना क्षेत्र के गांव बैदरापुर निवासी एक विधवा दलित महिला और उसके बेटे को गांव निवासी एक युवक ने जमकर पिटाई कर दिया। मारपीट की तहरीर महिला के नाबालिग पुत्र ने रौनाही थाने पर दिया। इसके बावजूद मामले में पुलिस ने अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं किया है। जबकि पुलिस मामले की जांचकर मुकदमा दर्ज करने के बजाय घटना को लेकर अनभिज्ञता जता रही है।
रौनाही थाने पर दी गयी तहरीर में बैदरापुर गांव निवासिनी विधवा दलित महिला के नाबालिग पुत्र उम्र लगभग 10 वर्ष आशीष कुमार का आरोप है कि बीते शुक्रवार को गांव के किनारे तालाब के पास वह अपनी बकरी चरा रहा था। इस बीच गांव निवासी युवक संजय निषाद पुत्र राम दुलारे ने पहुंचकर आशीष को जमकर लात घूंसे से मारा पीटा और उठाकर जमीन पर पटक दिया। गोहार सुनकर बीच बचाव करने मौके पर पहुंची आशीष की मां रामरता को भी संजय ने पीट दिया। इसके बाद घटना की तहरीर आशीष कुमार ने रौनाही थाने पर दिया। पीड़िता समरसता का कहना है कि घटना के दिन मुकदमा दर्ज नही होने पर उसने अपनी फरियाद पुत्र के साथ शनिवार को थाने पर आयोजित थाना समाधान दिवस पर पहुंचकर आप बीती एसपीआरए संजय कुमार और एसडीएम सोहावल रवि प्रकाश के सामने सुनायी। इसके बाद एसडीएम ने मालमे की जांच और कार्रवाई का आदेश पुलिस को दिया। इसके बावजूद पुलिस ने पीड़िता की फरियाद पर मुकदमा दर्ज नहीं किया और मामले से अनभिज्ञता जता रही है। थाना प्रभारी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में नही आया है। तहरीर मिली तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।