सेंटर फार अटार्कटिका रिसर्च शोध केन्द्र स्थापना हेतु कुलपति ने किया भूमि पूजन

अध्ययन केन्द्र में शोधाथियों के लिए स्मार्ट क्लास भी होगा विकसित

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में सोमवार को नवीन आवासीय परिसर में सेंटर फार अटार्कटिका रिसर्च शोध केन्द्र की स्थापना हेतु भूमि पूजन कुलपति आचार्य मनोज दीक्षित द्वारा किया गया। प्रो0 जसवन्त सिंह, विभागाध्यक्ष पर्यावरण विज्ञान विभाग ने बताया इस नवीन शोध केन्द्र में चार आधुनिक प्रयोगशाला समेत अध्ययन केन्द्र भी स्थापित होंगे। इसमें शोधार्थी अंटार्कटिका से लाये गये जल, मृदा एवं पौधे के नमूनों पर शोध कर सकेंगे। इस अध्ययन केन्द्र में शोधाथियों के लिए स्मार्ट क्लास भी विकसित होगा इसके साथ ही एक कोल्ड रूम भी विकसित किया जायेगा। तापमान माइनस 10 से माइनस 14 डिग्री सेंटीग्रेट तक होगा। इस कोल्ड रूम का उपयोग अंर्टाकटिका से लाये गये पौधों के नमूनों को रखने व अन्य शोध कार्य हेतु किया जायेगा।
प्रो0 सिंह ने बताया कि पर्यावरण विज्ञान विभाग द्वारा अंर्टाकटिका से सम्बन्धित चार बड़ी परियोजनाओं पर अभी तक कार्य किया गया है। इस शोध केन्द्र की स्थापना से शोध समस्याओं का समाधान विश्वविद्यालय द्वारा आसानी से किया जा सकेगा। कुलपति आचार्य मनोज दीक्षित ने बताया कि इस केन्द्र के बनने से विश्वविद्यालय के शोधार्थियों को नये आयाम प्राप्त होंगे तथा विश्वविद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को शोध के माध्यम से दुर्गम स्थल की जानकारी हासिल होगी तथा चयनित होने के उपरान्त अंर्टाकटिका जाकर षोध कार्य भी कर सकेंगे। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के ई0 आर0के0 सिंह, प्रो0 एम0पी0 सिंह, सहित षिक्षक, छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  संविदा डाक्टरों के हवाले जिला अस्पताल की इमरजेंसी

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More