in ,

अंकल फोन पर बतिया रहे थे, अनियंत्रित हुई स्कूल की बस

गनीमत रही गड्ढे में पहुंची बस पेड़ से टकराकर रुकी

स्कूली बच्चों को आई मामूली चोटे, परिचालक भर्ती

अयोध्या। पूराकलंदर थाना क्षेत्र के पुरखेपुर गांव के पास गुरुवार की सुबह एक स्कूली बस हादसे का शिकार हो गई। बसवार स्कूली बच्चों ने बताया कि चालक अंकल फोन पर बतिया रहे थे इसी दौरान बस अनियंत्रित हुई और सड़क किनारे गड्ढे में जा घुसी। गनीमत रही कि गड्ढे में घुसी स्कूली बस एक पेड़ से जा टकराई और रुक गई, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। घायल परिचालक उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। वही स्कूली बच्चों का प्राथमिक उपचार किया गया है।
रोज की तरह गुरुवार सुबह करीब आठ बजे अवध इंटरनेशनल विद्यालय आशापुर दर्शननगर की एक स्कूली बस क्षेत्र के करीब 30 बच्चों को लेकर अन्य बच्चो को लेने जा रही थी। इसी दौरान तेज रफ्तार बस जैसे ही बिरहर घाट मार्ग पर गंगौली चौराहे से आगे पुरखेपुर गांव के सामने पहुँची, उसी बीच चालक नौसाद अपनी जेब से फोन निकलकर बात करने लगा। बच्चों का कहना है कि इससे अनियंत्रित होकर स्कूली बस सड़क किनारे लगभग 7 फुट गहरे गड्ढे में चली गयी। गनीमत रही कि गड्ढे में घुसी स्कूली बस एक पेड़ से टकराकर रुक गई। नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।स्कूल बस दुर्घटना की जानकारी होते ही ग्राम प्रधान रामप्रकाश वर्मा सहित सैकड़ों लोग एकत्रित होकर बच्चो को बस से निकालने में जुट गये। खबर फैलते ही इलाकाई पुलिस तथा स्कूली बस पर सवार बच्चों के अभिभावक भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से स्कूली बस में सवार बच्चों को बाहर निकलवाया और उपचार के लिए आसपास के प्राइवेट डाक्टरों कथा नर्सिंग होम में भेज दिया। चालक की लापरवाही की जानकारी पर आक्रोशित अभिभावकों तथा मौके पर एकत्र भीड़ ने स्कूली बस को आग लगाने की कोशिश की हालांकि स्थानीय लोगों तथा पुलिस की मान मनोववल के बाद लोग शांत हो गए। हादसे में घायल बस कंडक्टर राम अछैबर पुत्र जगई निवासी कुमहिया थाना महराजगंज को गंभीर घायल होने के चलते चिकत्सालय में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। वहीं स्कूली बच्चों हर्ष तिवारी, पलक तिवारी, प्रशंसा तिवारी, आशुतोष तिवारी, सगुन व गुनगुन निवासी गंगौली, योगेश पांडे, आद्रिका पांडे, वैष्णवी पांडे, शुभी पांडे निवासी पुरखेपुर, अंबुज ओझा निवासी अंजना, पीयूष तिवारी निवासी पुरसाये थाना महराजगंज, देवांश पुत्र गणेश तिवारी ऐमी आलापुर थाना महाराजगंज का प्राइवेट डॉक्टरों से प्राथमिक उपचार कराया गया।
हादसे के बाबत पूरा कलंदर थानाध्यक्ष अरविंद तिवारी ने बताया कि चालक के खिलाफ अभिभावकों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि भविष्य में स्कूली बच्चों के साथ ऐसे हादसों की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए प्रतिदिन स्कूली वाहनों के खिलाफ अभियान चलाकर जांच कराई जाएगी।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

बाहर खड़ी प्राइवेट एम्बुलेंस को देख डीएम ने लगाई फटकार

उच्चीकरण के बावजूद स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल