The news is by your side.

बाहर खड़ी प्राइवेट एम्बुलेंस को देख डीएम ने लगाई फटकार

जिला चिकित्सालय के औचक निरीक्षण में जिलाधिकारी को मिली खामियां

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने जिला चिकित्सालय का अचौक निरीक्षण किया। निरीक्षण में चिकित्सालय के बाहर खड़ी प्राइवेट एम्बुलेन्सों को देखकर जिलाधिकारी ने सीएमएस को तत्काल एआरटीओ को बुलवाकर एम्बुलेन्सों को चेक करके हटवाने के निर्देश दिये।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि सिटी स्कैन मशीन के लिए शासन को पत्राचार व डिमाण्ड किया जायेगा, कार्डियोलाजिस्ट सहित अन्य जो भी पद रिक्त हैं उनके लिये भी शासन से पत्राकार कर शीर्घ स्टाफ उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होनें सीएमओ डॉ0 हरिओम श्रीवास्तव को जिला चिकित्सालय में मरीजों को अल्ट्रासाउण्ड सुविधा उपलब्ध कराने के लिये सप्ताह में दो दिन निश्चित करने तथा इसके लिए अन्य चिकित्सालयों से डाक्टर को अटैच करने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि एन्टी रेबीज व अन्य आवश्यक दवाईयों की उपलब्धता पहले से सुनिश्चित रखें जिससे मरीजों को असुविधा का सामना न करना पड़े। उन्होनें कहा कि जिस मरीज को स्ट्रेचर की आवश्यकता हो उसे स्ट्रेचर तथा जिसे व्हीलचेयर की आवश्यकता उसे व्हीलचेयर उपलब्ध करायें।
जिलाधिकारी ने सभी वार्डो में एवं बेड के पास मानक अनुसार डस्टविन लगवाने के निर्देश दिये। शौचालय एवं बाथरूम की साफ-सफाई की स्थिति खराब होने पर जिलाधिकारी ने सफाई सुपरवाइजर व अस्पताल मैनेजर से स्पष्टीकरण के लिए सीएमओ को निर्देशित किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने भर्ती मरीजों व उनके परिजनों से सुबिधाओं व समस्याओं की जानकारी ली, महिला सर्जरी वार्ड में मरीज से दवाओं की उपलब्धता के बारे में पूछनें पर मरीज ने बताया कि सभी दवायें अस्पताल से मिलती है। ईएनटी वार्ड में मरीज ने बताया कि दवाई अन्दर से मिलती है और बेडसीट प्रतिदिन बदली जाती है। इस दौरान जिलाधिकारी ने एमरजेन्सी वार्ड, ड्रेसिंग रूम, सर्जिकल वार्ड, बच्चा वार्ड, बाल एवं किशोर रोग कक्ष, एआरबी कक्ष, अस्थिरोग कक्ष आदि कक्षों में जाकर डाक्टरों द्वारा देखे गये मरीजों की संख्या आदि का निरीक्षण किया तथा डॉक्टरों को समय से अस्पताल आने व कर्तव्यनिष्ठा से कार्य करने को कहा।
इस अवसर पर सीएमएस ने बताया कि मरीजों को यहां से लखनऊ तक के लिए एम्बुलेन्स की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। प्रतिदिन बेडसीट चेन्ज होती है, चिकित्सालय में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन के सिलेण्डर उपलब्ध है, स्टाफ नर्स की कमी नही है, सभी जरूरी दवाई उपलब्ध है, जिला चिकित्सालय में आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत 16 मरीजो का इलाज चल रहा है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.