The news is by your side.

महापरिनिर्वाण दिवस पर डॉ. अम्बेडकर को अर्पित की गयी श्रद्धांजलि

श्रद्धांजलि सभा में बाबा साहब के व्यक्तित्व, कृतित्व पर डाला गया प्रकाश

अयोध्या। भारतीय संविधान के निर्माता व दलितों के मसीहा डा. भीमराम अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर अनुयायियों ने कई स्थानों पर श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर उनके व्यक्तित्व, कृतित्व पर प्रकाश डाला। बहुजन समाज पार्टी ने बहू बेगम मकबरा स्थित पार्टी कार्यालय में भावभीनी श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर डा. अम्बेडकर के जीवन दर्शन पर प्रकाश डालते हुए अनुकरण करने पर बल दिया। श्रद्धांजलि सभा के मुख्य अतिथि अयोध्या व देवीपाटन मण्डल के मुख्य प्रभारी अशोक कुमार गौतम थे। अध्यक्षता नेता विरोधी दल लालजी वर्मा ने किया। विचार व्यक्त करने वालों में पवन कुमार गौतम, दिलीप कुमार विमल, ओम प्रकाश गौतम, रितेश पाण्डेय, पूर्व विधायक जितेन्द्र कुमार सिंह बब्लू, विश्वनाथ पाल, मो. असद, बाबू राम करन, डा. धमेन्द्र प्रताप सिंह, ओम प्रकाश वर्मा आदि शामिल रहे।
का. सु. साकेत महाविद्यालय, अयोध्या, कर्मचारी परिषद द्वारा भारत रत्न, संविधान निर्माता एवं देश के प्रथम कानून मंत्री डॉ० भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप जलाकर श्रद्धांजलि समारोह आयोजित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. अजय मोहन श्रीवास्तव, विशिष्ट अतिथि डॉ. एस०पी०सिंह, नियन्ता, डॉ० परेश पाण्डेय, डॉ० ए०के०मिश्रा एवं माँ शान्ति सेवा फाउंडेशन के प्रबंधक कार्यक्रम आयोजक एवं परिषद अध्यक्ष बसंत राम, संयोजक इन्द्रजीत ने भावभीनी श्रद्धांजलि, पुष्प एवं मोमबत्ती जलाकर श्रद्धा सुमन अर्पित की। मुख्य अतिथि प्राचार्य ने कहा कि डॉ० अम्बेडकर साहब देश के विद्वान-महान पुरुष थे। हम सबको उनसे प्रेरित होकर सीख लेनी चाहिए। अतिथियों ने अपने व्यक्तव्य में कहा कि संविधान निमार्ता – डॉ० बाबा साहब को भारत देश के साथ-साथ अन्य देशों में भी याद किये जाते है। वहीं पर विशिष्ट तिथि डॉ० परेश पाण्डेय ने कहा देश के हर नागरिक को डॉ० अम्बेडकर जी के साथ-साथ देश के महान पुरुषों को याद करना चाहिए। परिषद के अध्यक्ष बसन्त राम ने कहा कि भारत देश आज आजाद है तो डॉ. भीमराव अम्बेडकर, बाबा साहब जैसे महान पुरुषों की वजह से है।
डॉ. भीमराव अम्बेडकर के 62वें परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर सपा कार्यालय लोहिया भवन में विचार गोष्ठी हुई। विचार गोष्ठी के पूर्व साहबगंज स्थित बाल्दा में डॉ0 अम्बेडकर की प्रतिमा पर समाजवादी अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकोष्ठ के महानगर अध्यक्ष वीरेन्द्र गौतम की अध्यक्षता में समाजवादी पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने माल्यार्पण किया। सपा कार्यालय लोहिया भवन में आयोजित विचार गोष्ठी की अध्यक्षता समाजवादी अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ओपी पासवान ने की। इस मौके पर डॉ0 अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। सपा जिलाध्यक्ष श्री यादव ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में संविधान की मर्यादा और मान्यता दोनों खतरे में है। सभी संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है जिसके कारण लोकतंत्र खतरे में है। विचार गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने कहा कि डॉ0 अम्बेडकर समानता के प्रतीक थे। उन्होंने दलित, बौद्ध आन्दोलन को प्रेरित किया और सामाजिक भेदभाव के विरूद्ध अभियान चलाया। श्री पाण्डेय ने कहा कि भारत के संविधान के जनक एवं भारत गणराज्य के डॉ0 अम्बेडकर निर्माता थे। सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि साहबगंज के बाल्दा स्थित व सपा कार्यालय लोहिया भवन में डॉ0 अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण करने वालों में व विचार गोष्ठी में अपने-अपने विचार रखने वालों में छोटेलाल यादव, हामिद जाफर मीसम, दान बहादुर सिंह, चन्द्रभान यादव, एस0के0 रावत, राकेश यादव, दीपक रावत, अनुराग रावत, विनीत चौधरी, रवि साहू, सूरज यादव, शिवकुमार गौड़, विनोद कुमार, आयुष श्रीवास्तव, रामनाथ गूजर, अजय रावत, मोहम्मद इश्तिकार, मोहम्मद अपील बब्लू, रमेश यादव, ईसा कुरैशी आदि मौजूद थे। गोष्ठी के अन्त में एस0के0 रावत ने “लाखों करोड़ों प्राणी आँसू बहा रहे हैं संविधान के रचयिता दुनिया से जा रहे हैं लेकर रात काली आया है छः दिसम्बर“ गीत के माध्यम से श्रद्धाजंलि दी।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.