in ,

महिला ने रसोई घर में फांसी लगाकर की खुदकुशी

मिला सुसाइट नोट : स्वेच्छा से फांसी लगा रही हूं, इसमें मेरे पति का कोई दोष नहीं

रूदौली। मवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम ओहरामऊ में एक महिला ने अपने ही घर के अन्दर बने रसोई में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।महिला के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमे उसने लिखा है कि अपनी स्वेच्छा से फांसी लगा रही हूँ इसमें मेरे पति का कोई दोष नही है।सूचना पाकर मवई पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा भरकर पोस्ट मार्टम के लिये भेज दिया है।ग्राम ओहरामऊ के सुरेंद्र पाण्डेय की पत्नी निशा पाण्डेय 38 वर्ष ने बुधवार की शाम को अपने घर के अन्दर बने रसोई घर में छत में लगे लोहे के हुक में नायलान की रस्सी बांध कर फांसी का फंदा अपनी गर्दन में डाल कर आत्म हत्या कर ली।घटना के समय निशा का पति सुरेंद्र पाण्डेय मवई की बाजार गया था ।सुरेंद्र जब बाजार से अपने घर पहुंचा तो इधर उधर देखा जब निशा घर में नही दिखाई दी तो बच्चों से पूछा कि तुम्हारी मम्मी कहाँ है इस पर बच्चों ने जब रसोई घर की तरफ देखा तो निशा का शव फांसी के फंदे से लटक रहा था।इस पर बच्चों में कोहराम मच गया सुरेंद्र पाण्डेय ने रस्सी काट कर शव को नीचे उतारा।मवई पुलिस को सूचना दी गयी सूचना पाकर उप निरीक्षक प्रवीण प्रताप सिंह,उप निरीक्षक गजेंन्द्र खरवार मौके पर पहुंचे तथा परिजनों से पूछताछ की।मृतका के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला जिसमे निशा ने लिखा था कि मैं अपनी स्वेच्छा से फांसी लगाने जा रही हूँ इसमें मेरे पति का कोई दोष नही है।जबकि गाँव में कुछ लोगों का कहना है कि मृतका ने घटना से कुछ समय पूर्व मोबाइल पर किसी से कहासुनी हुई थी। निशा तीन बच्चों की माँ थी ।उप निरीक्षक प्रवीण प्रताप सिंह तथा गजेंन्द्र खरवार ने पंचनामा भर कर लाश को पोस्ट मार्टम के लिये भेज दिया।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

सरयू तट पर हिन्दू महासभा ने राम मंदिर निर्माण का लिया संकल्प

महापरिनिर्वाण दिवस पर डॉ. अम्बेडकर को अर्पित की गयी श्रद्धांजलि