in ,

हनुमानगढ़ी से राम मंदिर के बीच आवागमन का मार्ग होगा सुगम

-अयोध्या में लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाया जा रहा 290 मीटर लम्बा कॉरिडोर

अयोध्या। रामलला के दर्शन के लिए आने वाली लाखों की भीड़ को देखते हुए योगी सरकार द्वारा रामलला के मंदिर तक एक नया पथ बनकर लगभग तैयार हो गया है। सुग्रीव पथ कॉरिडोर की लंबाई 290 मीटर है। यह हनुमानगढ़ी और राम मंदिर परिसर के बीच भक्तों के आवागमन के लिए एक आयताकार सर्किट के रूप में बनकर तैयार हैं।

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद से प्रतिदिन लगभग दो से ढाई लाख श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं, जिससे आए दिन जाम की समस्या सामने आ रही है। इसे देखते हुए योगी सरकार ने अयोध्या में सुग्रीव पथ नाम से एक नए कॉरिडोर के निर्माण पर कार्य करना प्रारंभ कर दिया था, जो अब श्रद्धालुओं के लिए पूर्ण रूप से बनकर तैयार होने वाला है।

कॉरिडोर निर्माण पर 11.81 करोड़ की लागत

अयोध्या में हनुमानगढ़ी मंदिर से रामजन्मभूमि मंदिर तक बनने वाले सुग्रीव पथ पर लगभग 11.81 करोड़ की लागत आई है, जिसमें से 5.1 करोड़ का उपयोग भूमि अधिग्रहण के लिए किया गया है। कॉरिडोर की चौड़ाई लगभग 17 मीटर है। पथ के पांच मीटर दोनों तरफ पैदल मार्ग के विकास के लिए इस्तेमाल होगा।

लोक निर्माण विभाग कर रहा सुग्रीव पथ का निर्माण

अयोध्या में बन रहे सुग्रीव पथ के निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था के रूप में लोक निर्माण विभाग को जिम्मेदारी दी गई थी। लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता एसबी सिंह ने बताया कि भूमिअधिग्रहण, ध्वस्तीकरण, सीवर का कार्य, यूटिलिटी डक्ट, ड्रेन, वाटर पाइप लाइन, डीएलसी, पीक्यूसी,मिट्टी डालने का कार्य पूर्ण कर लिया गया हैं।

आरसीसी सहित अन्य सभी कार्य 15 जुलाई 2024 तक पूर्ण कर लिए जाएंगे। अब श्री राम हॉस्पिटल के बगल से या जाकर सुग्रीव किला के पास जो पब्लिक आएगी वह राम जन्मभूमि दर्शन करने के बाद सीधे सुग्रीव पथ के रास्ते से राम पथ पर बाहर निकल जाएगी।

इसे भी पढ़े  श्रावण माह के पहले सोमवार को रामनगरी में उमड़े श्रद्धालु

What do you think?

Written by Next Khabar Team

राम पथ निर्माण में हुई लापरवाही, संसद में उठाऊंगा मुद्दा : अवधेश प्रसाद

कृषि विवि प्रशासन ने छात्रों का निष्कासन लिया वापस